हरियाणा

जगदीप धनखड़ बने 14वें उपराष्ट्रपति, राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने दिलाई शपथ

By Vinod Kumar -- August 11, 2022 2:26 pm -- Updated:August 11, 2022 2:29 pm

जगदीप धनखड़ ने आज भारत के 14वें उपराष्ट्रपति के रूप में शपथ ली। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने उन्हें राष्ट्रपति भवन में पद की शपथ दिलाई। उपराष्ट्रपति चुनाव में धनखड़ एनडीए के उम्मीदवार थे। उन्होंने चुनाव में विपक्ष की यूपीए उम्मीदवार मार्गरेट अल्वा को हराया था।जगदीप धनखड़ को 525 और मार्गरेट अल्वा को 182 वोट मिले थे।

जगदीप धनखड़ का शपथ ग्रहण समारोह दोपहर साढ़े 12 बजे राष्ट्रपति भवन में हुआ। शपथ ग्रहण से पहले धनखड़ बापू स्मारक गए। बापू के स्मारक पर जाने के बाद धनखड़ ने ट्वीट किया, ‘पूज्य बापू को श्रद्धांजलि देते हुए राजघाट की शांत भव्यता में भारत की सेवा में तत्पर रहने के लिए अपने आप को धन्य एवं प्रेरित महसूस किया।' शपथग्रहण समारोह में पीएम मोदी, पूर्व राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह समेत कई वरिष्ठ नेता मौजूद रहे।

Jagdeep-Dhankhar-3

कौन हैं जगदीप धनखड़

राजस्थान में झुंझुनू जिले के किठाना गांव में 18 मई, 1951 को जगदीप धनखड़ का जन्म हुआ था। उनकी प्राथमिक शिक्षा गांव के ही सरकारी स्कूल में हुई। उसके बाद, उन्होंने स्कॉलरशिप हासिल करके चित्तौड़गढ़ के सैनिक स्कूल में पढ़ाई की। इसके बाद जयपुर के प्रतिष्ठित महाराजा कॉलेज से बीएससी (ऑनर्स) की डिग्री हासिल की थी। राजस्थान विश्वविद्यालय से ही एलएलबी की पढ़ाई की।

Jagdeep-Dhankhar-1

धनखड़ ने वर्ष 1979 में राजस्थान बार काउंसिल की सदस्यता ली। 1987 में राजस्थान हाई कोर्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष भी चुने गए। सुप्रीम कोर्ट में भी कई साल तक वकालत करते रहे। धनखड़ का राजनीतिक करियर वर्ष 1989 से शुरू हुआ। बीजेपी के समर्थन से जनता दल की टिकट पर झुंझुनू से पहला लोकसभा चुनाव लड़े और जीत हासिल करने के बाद केंद्र में मंत्री भी बन गए।

वर्ष 1993 से 1998 के बीच वे अजमेर की किशनगढ़ विधानसभा से विधानसभा के सदस्य रहे। जनता दल के विभाजन के बाद वो पूर्व प्रधानमंत्री देवेगौड़ा के खेमे में चले गए। जनता दल से टिकट न मिलने पर बाद में वो कांग्रेस का दामन थामा और  अजमेर से कांग्रेस की टिकट पर लोकसभा चुनाव लड़ा, लेकिन हार गए।

2003 में बीजेपी में ज्वाइन की। लोकसभा और विधानसभा के अपने कार्यकाल के दौरान वे कई अहम समितियों के सदस्य रहे। बता दें कि मौजूदा उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू का कार्यकाल 10 अगस्त को ख़त्म हो रहा है। ऐसे में इस बार उपराष्ट्रपति का चुनाव 6 अगस्त को होगा। नए उपराष्ट्रपति 11 अगस्त को शपथ लेंगे।

  • Share