adv-img
अपराध/हादसा

पुलिस ने काला गैंग के तीन बदमाशों को दबोचा, पुलिस कस्टडी में गैंगस्टर को मारने की थी प्लानिंग

By Vinod Kumar -- October 27th 2022 04:11 PM

झज्जर/प्रदीप धनखड़: जिला पुलिस ने एक बड़ी अपराधिक वारदात को नाकाम करने में सफलता हासिल की है। इस साजिश के तहत एक गैंग से ताल्लुक रखने वाले बदमाशों ने विरोधी गैंग के मुखिया प्रदीप कासनी को मारने की योजना बनाई थी, लेकिन बदमाश अपनी इस योजना में सफल हो पाते उससे पहले ही झज्जर जिला पुलिस ने उन्हें दबोच लिया।

गिरफ्तारी के समय इन बदमाशों ने पुलिस टीम को अपनी गाड़ियों से कुचलने का प्रयास भी किया। इसके साथ ही पुलिस टीम पर फायरिंग भी की। हालांकि बदमाशों की पुलिस के आगे एक नहीं चली। पुलिस ने चार गाडिय़ों में हथियारों से लैस होकर जा रहे तीन बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि पंकज नाम की एक बदामाश पुलिस को चकमा देकर भागने में कामयाब हो गया।

इस पूरे घटनाक्रम के बारे में एसपी वसीम अकरम ने बताया कि पंचायत चुनाव के चलते पुलिस ने इन दिनों जिलेभर में नाकेबंदी की है। इसी के तहत पुलिस ने मातनहेल में भी एक नाका लगा रखा था। उसी दौरान झज्जर-छुछकवास की ओर से एक स्विफ्ट गाड़ी आई और नाके को तोड़कर आगे निकल गई। मामले की गंभीरता को भांपते हुए पुलिस टीम ने जैसे ही इस गाड़ी का पीछा किया तो उसी दौरान गाड़ी में बैठे युवकों ने पुलिस टीम को गाड़ी से कुचलने का प्रयास किया। इन युवकों ने पुलिस टीम पर फायरिंग भी की, लेकिन पुलिस टीम ने अपना बचाव करते हुए अपनी चुस्ती और दक्षता का परिचय देते हुए तीन बदमाशों को काबू कर लिया, जबकि पंकज नाम का एक बदमाश भागने में सफल हो गया। तलाशी लिए जानें पर पुलिस ने इन युवकों के कब्जे से अवैध हथियारों का जखीरा भी बरामद किया है।

पकड़े गए बदमाश शिवकांत, सुभाष और मंदीप शामिल हैं। एसपी के अनुसार शिवकांत पूर्व में हिसार की बोस्टल जेल से भागने वाले नाबालिग अपराधियों में भी शामिल रहा है। एसपी के अनुसार गैंग के मुखिया काला की काफी समय पहले मौत हो चुकी है। उसके मरने के बाद से पंकज व नवदीप निवासी चरखीदादरी इस काला गैंग को आपरेट कर रहे है। पकड़े गए बदमाशों के साथ पंकज भी गाड़ी में सवार था, जोकि पुलिस को गच्चा देकर भागने में सफल हो गया।

एसपी के मुताबिक चरखीदादरी में प्रदीप कासनी और काला गैंग के बीच आपसी दुश्मनी है। इसी के चलते ही काला गैंग से ताल्लुक रखने वाले इन बदमाशों की प्रदीप कासनी को पुलिस कस्टड़ी में ही मारने की योजना थी। प्रदीप कासनी इन दिनों गुरूग्राम स्थित भौंडसी जेल में बंद है। प्रदीप को पुलिस द्वारा शुक्रवार को किसी मामले में चरखीदादरी की एक अदालत में पेश किया जाना था। बीच रास्ते ही पुलिस कस्टड़ी में प्रदीप को मारने की साजिश काला गैंग के इन सदस्यों ने रची थी, लेकिन उससे पहले ही पुलिस ने काला गैंग के इन सदस्यों को काबू कर लिया।

  • Share