कांग्रेस नेताओं की आपसी गुटबाजी पर जेजेपी नेता दिग्विजय चौटाला की चुटकी

Digvijay Chautala
कांग्रेस नेताओं की आपसी गुटबाजी पर जेजेपी नेता दिग्विजय चौटाला की चुटकी

चंडीगढ़। जननायक जनता पार्टी के प्रदेश प्रधान महासचिव दिग्विजय सिंह चौटाला ने कांग्रेस नेताओं की आपसी गुटबाजी पर जोरदार कटाक्ष किया है। उन्होंने कहा कि आज कांग्रेस पार्टी में ब्लॉक स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक घमासान मचा हुआ है। दिग्विजय ने कहा कि कांग्रेस में अलग-अलग धड़े होने के चलते ही हरियाणा में पिछले कई वर्षों से जमीनी स्तर पर कार्य करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मान पाने को तरस रहे है। उन्होंने कहा कि जेजेपी ने ब्लॉक स्तर से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक के अपने कार्यकर्ताओं को सम्मान देने का काम किया है जबकि हरियाणा कांग्रेस का पिछले सात वर्षों से संगठन ध्वस्त पड़ा है। वहीं कई महीनों से जिलाध्यक्षों के पैनल पर कांग्रेस सहमति नहीं बना पाई है।

दिग्विजय चौटाला ने कहा कि देशभर में कांग्रेस नेताओं में आपसी कलह विकराल स्थिति में है और जिसका खामियाजा कार्यकर्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि चाहे कांग्रेस आलाकमान के खिलाफ कांग्रेस नेताओं का जम्मू में जी-23 सम्मेलन हो या पंजाब में सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच चल रही रार हो, सब जगह कांग्रेसी आपस में जूतमपैजार है। यहां तक कि गुटबाजी के चलते ही मध्यप्रदेश में कांग्रेसी अपनी सरकार तक नहीं संभाल पाए और अब राजस्थान में भी कांग्रेस का यही हाल है। उन्होंने कहा कि इसी तरह शुरू दिन से हरियाणा में कांग्रेसियों का आपस में छत्तीस का आंकड़ा चल रहा है। दिग्विजय ने कहा कि जब कांग्रेसियों को आपसी गुटबाजी करने में ही फुरसत नहीं तो वे कैसे भला अपने कार्यकर्ताओं को सम्मान दे पाएंगे।

Digvijay on Abhay Chautalaयह भी पढ़ें- गुरनाम सिंह चढूनी ने सरकार को दी चेतावनी, कही ये बात

यह भी पढ़ें- अब राशन डिपो पर भी मिलेगा जनरल स्टोर का सामान

Digvijay Chautala On Abhay Chautala
जेजेपी प्रधान महासचिव ने कांग्रेस को सलाह देते हुए कहा कि कांग्रेसी बीजेपी-जेजेपी गठबंधन सरकार और प्रदेशवासियों की चिंता छोड़कर पहले अपने कार्यकर्ताओं को सम्मान दें क्योंकि जो अपने कार्यकर्ता का ही नहीं हो सकता तो वो कैसे प्रदेश हित के बारे में सोच सकता है। दिग्विजय ने कहा कि कांग्रेस अब तक प्रदेश में पदाधिकारियों की नियुक्तियों क्यूं नहीं कर पाई, इसका जवाब भी उन्हें अपने कार्यकर्ताओं को जरूर देना चाहिए।