हरियाणा

किसान आंदोलन का 36वां दिन, टिकरी बॉर्डर पर कैथल के किसान की मौत

By Arvind Kumar -- December 31, 2020 11:12 am -- Updated:Feb 15, 2021

कैथल। कृषि कानूनों के विरोध में टिकरी बॉर्डर पर कैथल के एक किसान की मौत हो गई। मृतक किसान की पहचान कैथल के गांव भाणा के 56 वर्षीय रामकुमार करे रुप में हुई है। रामकुमार 10-15 दिनों से किसान आंदोलन में सहयोग करने गए थे।
बता दें कि कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली बॉर्डर पर किसानों का विरोध प्रदर्शन पिछले कई दिनों से जारी है। आज प्रदर्शन का 36वें दिन है। पिछले दिन किसान संगठनों की सरकार से बातचीत हुई थी जो काफी सकारात्मक रही थी।

Haryana Farmer at Tikari Border किसान आंदोलन का 36वां दिन, टिकरी बॉर्डर पर कैथल के किसान की मौत

केंद्रीय मंत्रियों के मुताबिक सरकार प्रतिनिधियों के साथ खुले मन से चर्चा करके समाधान के लिए हर संभव प्रयासरत है। दोनों तरफ से कदम आगे बढ़ने की जरूरत है। सरकार सभी सकारात्‍मक विकल्‍पों को ध्‍यान में रखते हुए कानूनी राय के साथ विचार करने के लिए तैयार है।

यह भी पढ़ें- ब्रिटेन में पाए गए कोरोना वायरस के नए स्ट्रेन से भारत में 20 लोग संक्रमित

पिछले कल कृषि मंत्री ने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों को आश्‍वासन दिया कि एमएसपी पर कृषि उपज की खरीद तथा मंडी प्रणाली पूर्व की तरह जारी रहेगी। किसान संगठनों के एमएसपी पर कानून बनाने के प्रस्‍ताव पर कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि उपज की एमएसपी तथा उनके बाजार भाव के अंतर के समाधान हेतु समिति का गठन किया जा सकता है।

Haryana Farmer at Tikari Border किसान आंदोलन का 36वां दिन, टिकरी बॉर्डर पर कैथल के किसान की मौत

किसान संगठनों के प्रतिनिधियों द्वारा तीनों कानून वापस लेने से संबंधित सुझाव के संबंध में कृषि मंत्री ने कहा, इस पर कमेटी का गठन करके किसान के हितों को ध्‍यान में रखते हुए विकल्‍पों के आधार पर विचार किया सकता है। जिससे संविधानात्‍मक मर्यादा का पालन करने के लिए सरकार अपनी भूमिका का निर्वहन कर सके।
यह भी पढ़ें- नए साल के जश्न के लिए पैक हुई पहाड़ों की रानी शिमला

बैठक में वायु गुणवत्‍ता प्रबंधन अध्‍यादेश, 2020 तथा विद्युत संशोधन विधेयक, 2020 पर सरकार ने किसान संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ विस्‍तृत चर्चा की तथा सरकार ने किसान संगठनों के सुझाव पर सैद्धांतिक रूप से इन दोनों विषयों पर अपनी सहमति जताई।

Haryana Farmer at Tikari Border किसान आंदोलन का 36वां दिन, टिकरी बॉर्डर पर कैथल के किसान की मौत

किसान संगठनों के प्रतिनिधियों ने भी कृषि सुधार कानूनों से संबंधित मुद्दे सरकार के समक्ष विचारार्थ रखे। जिस पर सरकार ने उन्‍हें योग्‍य निर्णय लेने हेतु आश्‍वस्‍त किया। यह भी आश्‍वासन दिया गया कि भारत सरकार भी साफ नियत तथा खुले मन से प्रासंगिक मुद्दों के तर्कपूर्ण समाधान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

वार्ता सौहार्दपूर्ण वातावरण में सम्‍पन्‍न हुई और दोनों पक्षों ने आगे भी चर्चा जारी रखने पर सहमति व्‍यक्‍त की। कृषि मंत्री  द्वारा किसान संगठनों को अनुरोध किया गया कि कृषि सुधार कानूनों के संबंध में अपनी मांग के अन्‍य विकल्‍प दे, जिस पर सरकार विचार कर सकेगी। अब अगली बैठक दिनांक 04.01.2021 को 2.00 बजे निर्धारित की गयी है।