खेल

कश्मीरी एथलीट दानिश मंजूर को बड़ी जिम्मेदारी, केंद्र सरकार की इस योजना के बने एंबेसडर

By Vinod Kumar -- September 08, 2022 5:43 pm

जम्मू-कश्मीर के युवा एथलीट दानिश मंजूर को भारत सरकार के फिट इंडिया मूवमेंट के लिए ब्रांड एंबेसडर बनाया गया है। इसके चलते हाल ही में भारत के प्रतिनिधि बनकर इंटरनेशनल ताइक्वांडो इवेंट में शामिल होने वाले कश्मीर के बारामुला निवासी दानिश बेहद सम्मानित और गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

फिट इंडिया मूवमेंट का एंबेसडर बनना वास्तव में दानिश के लिए बहुत बड़ी उपलब्धि है। इसे हासिल करके वह कितने खुश हैं, इसका ज़िक्र उनकी वो सोशल मीडिया पोस्ट करती है, जो कि उन्होंने स्वदेशी माइक्रो-ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म, कू ऐप के माध्यम से एक्सक्लूसिव रूप से साझा की है।

 


हाल ही में दानिश मंजूर सुर्खियों में रहे थे। 'फिट इंडिया मूवमेंट' के एंबेसडर दानिश मंजूर बीते 12 से 15 अगस्त तक आयोजित ओलंपिक-रैंकिंग ताइक्वांडो इवेंट में हिस्सा लेने इजराइली शहर रमला पहुँचे थे, जहाँ उन्होंने इस प्रतियोगिता में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। वर्ष 2021 में दानिश ने पंजाब के रोपड़ में आयोजित राष्ट्रीय स्तर की ताइक्वांडो प्रतियोगिता में रजत पदक जीता था।

इस प्रतियोगिता में जाने से पहले दानिश ने रमला जाने के लिए स्पॉनसरशिप हासिल करने के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया था। दानिश ने कू ऐप पर अपनी परेशानी साझा करते हुए स्पॉन्सरशिप मांगी थी, जिसके बाद हेल्प फाउंडेशन नामक एक एनजीओ ने उनकी मदद की थी। दानिश ने कोरोना वायरस के चलते लागू लॉकडाउन के दौरान ताइक्वांडों की तैयारी शुरू की थी।

बताते चलें कि इससे पहले फिट इंडिया मूवमेंट के ब्रांड एंबेसडर मशहूर अभिनेता सोनू सूद, वुशु कोच और केंद्र शासित प्रदेश जम्मू और कश्मीर के पहले द्रोणाचार्य पुरस्कार प्राप्त कुलदीप हांडू और अंतरराष्ट्रीय वुडबॉल खिलाड़ी डॉ. प्रेम प्रकाश मीणा भी रह चुके हैं।

फिट इंडिया मूवमेंट को माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्ष 29 अगस्त 2019 को लॉन्च किया था। इसका उद्देश्य मुख्य रूप से देश के लोगों को स्वास्थ्य और व्यायाम के लिए जागरूक तथा प्रोत्साहित करना है। ब्रांड एंबेसडर बनने के बाद युवा एथलीट दानिश मंजूर अपने स्वास्थ्य और व्यायाम के प्रति विशेष रूप से जागरूक हो गए हैं।

प्रधानमंत्री द्वारा चलाए गए फिट इंडिया मूवमेंट के अंतर्गत यह सुनिश्चित किया जाता है कि प्रतिदिन कम से कम एक घंटा व्यायाम ज़रूर करना चाहिए, जिससे एक स्वस्थ और बेहतर भारत का निर्माण हो सके और साथ ही शारीरिक फिटनेस को जीवन का एक तरीका बनाया जा सके। इस मूवमेंट का उद्देश्य आसान और बेहतर जीवन शैली से लेकर दिन-प्रतिदिन के जीवन के शारीरिक रूप से सक्रिय तरीके से व्यवहार में बदलाव करना है।

  • Share