सुखबीर बादल के एक फोन पर करनाल में किसानों के लिए पहुंच गया लंगर

By Arvind Kumar - September 08, 2021 1:09 pm

चंडीगढ़। करनाल में लघु सचिवालय के बाहर किसानों ने मोर्चा लगा दिया है। किसान लाठीचार्ज का आदेश देने वाले एसडीएम अफसर को सस्पेंड करने की मांग पर अड़े हैं। वहीं किसानों की अन्य भी कई मांगे हैं लेकिन अभी तक प्रशासन और किसानों के बीच कोई सहमति नहीं बन पाई है। ऐसे में यह संघर्ष लंबा खिंच सकता है।

इस बीच करनाल में लघु सचिवालय के घेराव के लिए आए किसानों को एसजीपीसी ने लंगर की व्यवस्था की है। शिरोमणि अकाली दल के प्रधान सुखबीर बादल ने एसजीपीसी अध्यक्ष जगीर कौर को फोन कर वहां सेवा शुरू करने के लिए कहा था। एसजीपीसी अध्यक्ष ने बताया कि एसजीपीसी के द्वारा 3 गुरद्वारा साहिब के मैनेजर की ड्यूटी लगाई और वहां पर लंगर, पानी और चाय की सेवा शुरू कर दी गई है।

वहीं उन्होंने बताया कि सिंघु और टिकरी बॉर्डर पर पहले से ही एसजीपीसी के द्वारा लंगर, पानी और चाय के लंगर निरंतर चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि भारत सरकार को ज़िद्द छोड़ देनी चाहिए और तीन कृषि कानूनों को वापस लेना चाहिए।


किसानों के द्वारा अकाली दल का विरोध करने पर उन्होंने कहा कि किसान नेताओं ने कहा था कि भाजपा का ही विरोध करना है लेकिन जो अकाली दल का विरोध कर रहे हैं वह आप और कांग्रेस के वर्कर हैं। भारत सरकार जितना मर्जी ज़ोर लगा ले खेती कानून पंजाब में लागू नहीं होने देंगे।

adv-img
adv-img