रेमडेसिविर इंजेक्शन को 35 हजार में बेच रहा था युवक, पुलिस ने किया गिरफ्तार

फतेहाबाद। (साहिल रुखाया) फतेहाबाद पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी का भंडाफोड़ किया है। पुलिस ने 35 हजार रुपए में रेमडेसिवीर इंजेक्शन बेचते युवक को काबू किया है। पकड़े गए आरोपी युवक से पुलिस ने 6 रेमडेसिविर इंजेक्शन मौके से बरामद किए। पकड़े गए आरोपी युवक की पहचान हिसार निवासी भव्य अग्रवाल के तौर पर हुई है।
पुलिस ने भव्य अग्रवाल के खिलाफ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट 2005 सहित धारा 420 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। आरोपी युवक को आज कोर्ट में पेश किया गया। भव्य अग्रवाल ने पूछताछ में बताया कि वह हिसार के विकास नामक युवक से यह इंजेक्शन ले कर आया था। जिसके बाद पुलिस विकास की भी तलाश कर रही है।

फतेहाबाद पुलिस की सीआईए टीम के द्वारा देर रात शहर के बस स्टैंड के पास से यह गिरफ्तारी की गई। फतेहाबाद के गांव ठुईयां निवासी वीरेंद्र नाम के युवक ने पुलिस को यह सूचना दी थी की भव्य अग्रवाल कोरोना महामारी के दौरान 35 हजार में रेमडेसिवीर इंजेक्शन बेच रहा है। इसके बाद पुलिस ने यह कार्रवाई की।

यह भी पढ़ें- ऑक्सीजन के नाम पर साइबर ठग हुए सक्रिय, हरियाणा पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

यह भी पढ़ें- शूटर दादी चंद्रो तोमर का कोरोना से निधन, मेरठ के आनंद अस्पताल में ली आखिरी सांस

रेमडेसिविर इंजेक्शन को 35 हजार में बेच रहा था युवक, पुलिस ने किया गिरफ्तार

इस मामले में जानकारी देते हुए फतेहाबाद के डीएसपी दलजीत बेनीवाल ने बताया कि भव्य अग्रवाल 35 हजार रूपये मे रेमडेसिवीर इंजेक्शन बेच रहा था। जब पुलिस ने भव्य अग्रवाल को काबू किया तो उससे कुल 6 रेमडेसिवीर इंजेक्शन के 6 इंजेक्शन बरामद हुए। उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और उसे आज कोर्ट में पेश किया गया। डीएसपी ने बताया कि मार्केट में इस रेमडेसिवीर इंजेक्शन का दाम करीब 800 रूपये है, लेकिन इसे कालाबाजारी कर 35 हजार में बेचा जा रहा था।