रेवाड़ी में 2500 रुपए के लिए हुई थी युवक की हत्या, मोबाइल के जरिए पकड़े हत्यारे

By Arvind Kumar - August 25, 2020 2:08 pm

रेवाड़ी। (मोहिंदर भारती) धारूहेड़ा की आनंदम सोसाइटी के पास बीती 8 जुलाई को यूपी निवासी युवक संदीप के घायल अवस्था में मिलने और उसके बाद हुई मौत के मामले का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। संदीप की दो बदमाशों ने लूटपाट के दौरान विरोध करने पर पत्थरों से पीट-पीटकर हत्या की थी जिसमें पुलिस ने मध्यप्रदेश निवासी एक आरोपी को पहले गिरफ्तार किया था। वहीं अब दूसरे आरोपी को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तार आरोपी विशाल उर्फ मालतू मध्यप्रदेश के दतिया का रहने वाला है।

मृतक वाहन निर्माता कंपनी में करता था काम

पुलिस अधिकारी धर्मबीर सिंह ने बताया कि यूपी के जिला फिरोजाबाद के गांव नंगला बबूल निवासी संदीप पुत्र भूरा सिंह धारूहेड़ा की एक दुपहिया वाहन निर्माता कंपनी में ठेकेदार के अधीन काम करता था। मार्च में लगाए गए लॉकडाउन के बाद वह अपने घर चला गया था और लॉकडाउन समाप्त होने के बाद 8 जुलाई की सुबह 5 बजे ही धारूहेड़ा आया था। संदीप अपने भाई सुरेश के साथ सैनिक कॉलोनी में किराए के मकान में रहता था और सुबह आगरा से लौटने के बाद बस स्टैंड पर उतरने के बाद पैदल ही सैनिक कॉलोनी में जा रहा था।

Man murdered for 2500 rupees | Murder Accused Arrested

बदमाशों ने अकेला देखकर घेरा था

इससे पहले उसने अपने भाई को धारूहेड़ा पहुंचने की जानकारी दी दे दी थी। जब वह आनंदम सोसाइटी के समीप पहुंचा तभी बदमाशों ने उसको अकेला देखकर घेर लिया। आरोपियों ने उससे मोबाइल के साथ 25 सौ रुपये छीनने का प्रयास किया था। संदीप ने इस बात को लेकर विरोध किया। उसके विरोध के बाद आरोपियों ने पास ही पड़े पत्थरों से उस पर हमला कर दिया और उसके चेहरे व सिर पर गंभीर चोटें लगी जिसके कारण वह गंभीर रूप से घायल हो गया था।

मात्र 2500 रुपये के लिए कर दी थी हत्या

सुबह जब सोसायटी में रहने वाले लोगों ने युवक को घायल अवस्था में देखा तो इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने संदीप को अस्पताल में दाखिल कराया जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई थी। मौत के बाद पुलिस ने संदीप के भाई सुदेश की शिकायत पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया था। वारदात के बाद से मृतक का पर्स व मोबाइल भी गायब था जिसके बाद पुलिस को संभावना थी कि संभवत लूटपाट के इरादे से हत्या की गई है। इसी आधार पर पुलिस ने जांच को आगे बढ़ाया तो पता चला कि उसका मोबाइल गुरुग्राम के कासन बड़ा गांव तक गया है जिसके बाद पुलिस ने उन नंबरों को ट्रेसिंग करते हुए आरोपी को पकड़ लिया। आरोपी ने बताया कि उसने लूटपाट के विरोध के दौरान संदीप की हत्या की थी। उसके पर्स में केवल 2500 रुपये ही मिले थे।

---PTC NEWS---

adv-img
adv-img