हरियाणा

चरखी दादरी : मनोहर लाल ने रेतीली जमीन पर तैयार किया खजूर की बगीचा, ऑर्गेनिक तरीके से करते हैं खेती

By Vinod Kumar -- July 02, 2022 4:16 pm -- Updated:July 02, 2022 4:25 pm

चरखी दादरी: प्रदीप शाहू: परंपरागत खेती को छोड़कर आर्गेनिक खेती से किसान मनोहर लाल कम लागत पर लाखों रुपए की कमाई कर रहा है। किसान ने रेतीली जमीन पर खजूर व हल्दी उगाकर साबित कर दिया कि मेहनत व लग्न के बूते कुछ भी हासिल किया जा सकता है। किसान मनोहर लाल ने आधुनिक खेती को बढ़ावा देते हुए किसानों के लिए प्रेरणास्रोत बन गए हैं।

चरखी दादरी जिले के गांव गोपी के किसान मनोहर लाल ने एक नई मिसाल पेश करते हुए परंपरागत खेती छोड़ कर सब्जी की खेती शुरू करके लाखों रुपए कमाए हैं। किसान मनोहर लाल ने बताया कि 2016 से वह टमाटर, मिर्च, खीरा व हरी सब्जियों की खेती कर रहे हैं और जिसमें भरपूर पैदावार हो रही है। इसके साथ-साथ हल्दी की खेती करते हैं, जिसमें भरपूर आमदनी हो जाती है। किसान ने रेतीली जमीन पर करीब पांच एकड़ में खजूर के पेड़ लगाए हैं और जल्द ही इनसे फल मिलने शुरू हो जाएंगे।

किसान मनोहर लाल ने बताया कि उन्होंने दो तरह के प्याज लगाए हुए हैं, जिसमें भरपूर पैदावार मिल रही है। गेहूं व सरसों की फसलों में काफी मेहनत व पैसे की भी जरूरत पड़ती है, लेकिन सब्जी की खेती में मेहनत करके अच्छी पैदावार की जा सकती है। उन्होंने ऑर्गेनिक खेती करके कम लागत पर ज्यादा पैसे कमाए हैं। किसान के अनुसार वो स्वयं ऑर्गेनिक खाद तैयार करते हैं, जिससे सब्जी की फसल को रोगों से बचाया जा सकता है। वहीं ऑर्गेनिक खेती स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद होती है।

किसान मनोहर लाल ने बताया कि उन्होंने दो एकड़ में नेट हाउस लगाया हुआ है, जिसमें हरी मिर्च लगाई गई है। सरकार की तरफ से सब्सिडी दी गई है। वहीं, किसान मनोहर लाल ने बताया कि उन्होंने 5 एकड़ में खजूर के पेड़ लगाए गए हैं। खजूर के पौधे की की कीमत 2600 रुपये है। सरकार की तरफ से 1950 रूपये सब्सिडी मिलती है।

  • Share