adv-img
अपराध/हादसा

अंबाला सेंट्रल जेल से कई मोबाइल और बैटरियां बरामद, पकड़े जाने के डर से कई कैदियों ने जलाए फोन

By Vinod Kumar -- October 18th 2022 04:00 PM

अंबाला/कृष्ण बाली: सेंट्रल जेल में मोबाइल के माध्यम से होने वाले क्राइम पर अंकुश लगाने के लिए नवनियुक्त जेल सुपरिटेंडेंट संजीव कुमार के सर्च अभियान के बाद कैदियों में पूरा खौफ है। हालात यह हैं कि सर्च अभियान के तहत जहां जेल सुपरिटेंडेंट को कई मोबाइल फोन बरामद हुए हैं तो वहीं कई बंदियों और कैदियों ने पकड़े जाने के डर से पहले ही मोबाइल फोन को जला दिया।

अंबाला जेल सुप्रीडेंट के बताया कि अंबाला जेल का चार्ज लेने के एक सप्ताह के अंदर ही करीब 10 मोबाइल फोन बरामद किए गए हैं। वहीं, दूसरी तरफ हमारे पास इनपुट है कि कई लोगों ने अपने मोबाइल फोन को जला दिया है। एक दो फोन के जलने के बाद बरामद किया है। करीब 11 मोबाइल बैटरी मिली हैं और कई मोबाइल जमीन में दबे हुए भी निकाले हैं। सात डाटा केबल हैं और 10 चार्जर हैं। इयरफोन लीड भी बरामद की गई हैं। आगे भी इसी तरह छापेमारी जारी रहेगी और इस मामले में किसी तरह का समझौता नहीं किया जाएगा। सरकार के स्पष्ट आदेश हैं कि जेल से नशा, फोन व फिरौती की वारदातों को खत्म करना है।

जेल में कैदियों को दी जाने वाली वीआईपी सुविधाओं को लेकर किए गए सवाल पर जेल सुपरिटेंडेंट संजीव कुमार ने कहा कि सरकार के आदेशों के अनुसार सभी कैदियों को सुविधाएं दी जा रही हैं, अस्पताल में दाखिल कैदियों और बंदियों को भी डॉक्टर्स से बात करने के बाद वापस जेल में लाया गया है। वीआईपी ट्रीटमेंट किसी को नहीं दिया जाएगा, जो भी नियमों के अनुसार सुविधाएं मिलनी चाहिए। वही दी जाएगी। अस्पताल में ट्रीटमेंट लेने वाले करीब 7 बंदियों व कैदियों को वापस जेल में लाया गया है।

जेल सुपरिटेंडेंट संजीव कुमार ने कहा कि कई बिंदुओं पर जेल में जांच चल रही है और यदि जांच में किसी अधिकारी या फिर कर्मचारी की मिलीभगत पाई जाती है तो उसपर भी सख्त कार्रवाई की जाएगी।

  • Share