हरियाणा के कई गांवों ने किया मतदान का बहिष्कार, सुबह से कोई नहीं आया वोट देने

Voting Bycott 2
हरियाणा के कई गांवों ने किया मतदान का बहिष्कार, सुबह से कोई नहीं आया वोट देने

चंडीगढ़। छठे चरण में हरियाणा की सभी 10 लोकसभा सीटों पर मतदान किया जा रहा है। लेकिन हरियाणा के कई ऐसे गांव है जहां पर चुनाव का बहिष्कार किया गया है। पीने के पानी की किल्लत के चलते जींद के खटकड़ गाँव के बूथ नबर 209 में मतदाता वोट नहीं पहुंच रहे हैं। लोगों ने यहां चुनाव का बहिष्कार किया है।

Jind Voting Bycott 1
जींद के खटकड़ गाँव के बूथ नबर 209 में मतदाता वोट नहीं पहुंच रहे हैं।

उधर चरखी दादरी के गांव दातोली की पंचायत द्वारा मतदान का बहिष्कार फैसला लिया गया है। कई वर्षों से पेयजल संकट को लेकर परेशान ग्रामीण मतदान केंद्रों के सामने धरने पर बैठे हैं। गांव में पंचायत ने शनिवार को एकजुट होकर मतदान बहिष्कार करने का फैसला लिया। गांव में दोनों मतदान केंद्रों पर पोलिंग पार्टियां पहुंची, मतदान करने कोई नहीं आया। सरपंच दयानंद की अध्यक्षता में ग्रामीण बूथों के आगे धरने पर बैठे हैं।

वहीं रेवाड़ी जिले की कोसली विधानसभा के एक अन्य गांव के लोगों ने भी मतदान का बहिष्कार किया है। गांव भाकली की सरपंच रुखसाना ने बताया कि प्रशासन उनकी कई मांगों को पूरा नहीं कर रहा है, जिस कारण उन्होंने मतदान नहीं करने का फैसला लिया है। अभी तक गांव में बने दो बूथों संख्या 12 व 13 पर एक भी पोल नहीं हुआ है। प्रशासन लोगों को समझाने का प्रयास कर रहा है।

यह भी पढ़ें : हरियाणा में 9 बजे तक 8 फीसदी से ज्यादा मतदान, कई पोलिंग बूथों पर EVM खराब

पंचकूला के गुमथला गांव के लोगों ने भी मतदान का बहिष्कार किया है। गांव में करीब पौने दो सौ मतदाता हैं। गुमथला गांव कालका विधानसभा के दायरे में आता है। गांव के लोगों ने कहा कि वो पानी, सड़क और स्कूल समेत तमाम सुविधाओं से महरूम है। लोगों ने कहा कि जब मूलभूत सुविधाएं ही नहीं तो फिर वोट नहीं देंगे।