हरियाणा पुलिस ने भारी मात्रा में अवैध हथियार किए बरामद, 185 मामले दर्ज

चंडीगढ़। हरियाणा पुलिस अवैध हथियार तस्करों पर नकेल कसने में कामयाब रही है। पुलिस के 15 दिनों के एक विशेष अभियान के दौरान राज्य के विभिन्न क्षेत्रों से 136 देसी पिस्तौल, 41 देसी कट्टा, दो रिवाल्वर, 228 कारतूस, 12 मैगजीन, 19 चाकू और एक तलवार जब्त की है।

पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) हरियाणा, मनोज यादव ने इस संबंध में खुलासा करते हुए बताया कि अभियान के दौरान अवैध हथियार तस्करों व अन्य व्यक्तियों के खिलाफ कुल 185 मामले दर्ज किए गए हैं। प्रदेश में अवैध हथियारों को धकेलने की नाकाम कोशिश करने वाले तस्करों को पकडने में पुलिस को काफी सफलता मिली है।

1700 arrested under NDPS Act in Sirsa in last 19 monthsडीजीपी ने कहा संगठित अपराध को जड़ से खत्म करने में प्रयासरत एसटीएफ ने 1 मई को मोस्ट वांटेड खूंखार गैंगस्टर सुबे गुज्जर को भी गिरफ्तार किया है। उसकी गिरफ्तारी पर 7.5 लाख रुपये का इनाम था, और इस भगौड़े अपराधी की हरियाणा और अन्य पड़ोसी राज्यों की पुलिस को काफी लंबे समय से तलाश थी। उन्होंने एसटीएफ और अन्य पुलिस टीमों को भी बधाई दी जो सक्रिय रूप से विभिन्न कुख्यात और खूंखार अपराधियों को सलाखों के पीछे भेजने में कार्यरत हैं।
 उन्होंने बताया कि पुलिस ने विशेष अभियान के दौरान 216 उद्घोषित अपराधियों (पीओ) और 230 बेल जंपर्स को भी काबू करने में सफलता हासिल की है। है। सर्वाधिक 30 पीओ गुरुग्राम से, 20 करनाल से और 18 पीओ को फरीदाबाद से गिरफ्तार किया गया है। इस अवधि में स्टेट क्राइम ब्यूरो ने भी 42 पीओ को सलाखों के पीछे पहुंचाने में कामयाबी हासिल की है।


डीजीपी ने कहा कि कोविड महामारी की वर्तमान स्थिति में, अपराधियों और असामाजिक तत्वों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिसबल सड़को पर नजर आएगी ताकि अपराधी किसी भी तरह से वर्तमान परिस्थिति का लाभ न उठा सकें।
पुलिस द्वारा राज्य में अवैध हथियारों और अन्य अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए 1 से 15 अप्रैल के बीच एक विशेष अभियान चलाया गया था। इस दौरान पुलिस की अपराध और अन्य इकाइयों ने इसे सफल बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।