विधायक कृष्ण मिढ़ा ने निर्माणाधीन अटल पार्क पर मारा छापा, भरवाए सैंपल

Krishan Midha 1
विधायक कृष्ण मिढ़ा ने निर्माणाधीन अटल पार्क पर मारा छापा, भरवाए सैंपल

जींद। (अमरजीत खटकड़) विधायक डॉ. कृष्ण मिढ़ा ने रविवार को सफीदों रोड पर बन रहे अटल पार्क का दौरा किया। जहां निर्माण में लग रही घटिया क्वालिटी की ईंटें व निर्माण सामग्री देख कर विधायक का पारा चढ़ गया। विधायक ने दो ईंटों को आपस में भिड़ा कर देखा, तो ईंटे टूट कर खील की तरह कई टुकड़ों में बिखर गई। निर्माण में प्रयोग की जा रही रेती भी काफी घटिया क्वालिटी की मिली। जिसे देख कर मिढ़ा बोले कि यहां तो अंधेरगर्दी चल रही रही है। तुरंत उन्होंने डीसी को फोन कर सैंपल भरवाने के लिए अधिकारियों को भेजने के लिए कहा। जिसके कुछ देर बाद पीडब्ल्यूडी बीएंडआर के एसडीओ केएस चोपड़ा पहुंचे। लेकिन नगर परिषद का कोई भी अधिकारी मौके पर नहीं पहुंचा और दो घंटे तक विधायक मिढ़ा उनके आने का इंतजार करते रहे।

Krishan Midha 2
विधायक कृष्ण मिढ़ा ने निर्माणाधीन अटल पार्क पर मारा छापा, भरवाए सैंपल

इस दौरान विधायक ने ठेकेदार के प्रतिनिधि प्रदीप को भी फटकार लगाते हुए कहा कि ये साढ़े पांच करोड़ रुपये की परियोजना है। टेंडर के अनुसार जब उन्हें सरकार पूरा पैसा दे रही है, तो काम ढंग से होना चाहिए। बता दें कि अटल पार्क की घोषणा सीएम मनोहर लाल ने अपने पहले कार्यकाल में साल 2014 में की थी। लेकिन इस परियोजना पर काम इस साल सितंबर में शुरू हुआ। करीब साढ़े पांच करोड़ रुपये की लागत से नगर परिषद इसका निर्माण करा रही है।

यह भी पढ़ें: सड़क हादसे में पति-पत्नी की मौत, दंपत्ति के दोनों बच्चे सुरक्षित

13 सितंबर को तत्कालीन हरियाणा वन विकास निगम के चेयरमैन जवाहर सैनी ने ही अटल पार्क का शिलान्यास किया था। अब बीजेपी के विधायक ने ही विकास कार्यों में अनियमिताएं बरते जाने की बात कह कर नगर परिषद की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े कर दिए हैं। उप चुनाव के बाद से ही विधायक मिढ़ा व जवाहर सैनी में रिश्ते अच्छे नहीं रहे हैं।

Contractor Representative
विधायक कृष्ण मिढ़ा ने निर्माणाधीन अटल पार्क पर मारा छापा, भरवाए सैंपल

हालांकि ठेकेदार के प्रतिनिधि का कहना है कि सभी ईंटें बढ़िया क्वालिटी की हैं। चाहे तो वे सैंपल भरवा सकते हैं। नगर परिषद के अधिकारियों के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि नगर परिषद अधिकारी रूटीन में यहां आते हैं और निर्माण संबंधी दिशा-निर्देश देते हैं। लेकिन निर्माण में किस क्वालिटी की सामग्री लग रही है, इसकी जांच नहीं करते।

—PTC NEWS—