चांद पर हो चली शाम, विक्रम से संपर्क की उम्मीद लगभग खत्म!

Chanderyaan 2
चांद पर हो चली शाम, विक्रम से संपर्क की उम्मीद लगभग खत्म!

नई दिल्ली। भारतीय अंतरिक्ष एजेंसी इसरो के वैज्ञानिक चंद्रयान-2 से संपर्क साधने में कामयाब नहीं हो पाए! चंद्रयान-2 के तहत भेजा गया विक्रम लैंडर 7 सितंबर को अल सुबह 1.50 बजे चांद के दक्षिणी ध्रुव पर गिरा था। 9 दिन बीत जाने के बाद भी अभी तक विक्रम लैंडर से संपर्क नहीं हो पाया है। ऐसे में अब विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद लगभग खत्म ही हो गई है क्योंकि चांद पर शाम होना शुरू हो गई है।

Chanderyaan 2
चांद पर हो चली शाम, विक्रम से संपर्क की उम्मीद लगभग खत्म!

20 या 21 सितंबर को चांद पर रात हो जाएगी। 14 दिन के मिशन पर गए विक्रम लैंडर और प्रज्ञान रोवर का टाइम भी इस दिन पूरा हो जाएगा! ऐसे में विक्रम लैंडर से संपर्क की उम्मीद अब लगभग खत्म हो गई है।

यह भी पढ़ेंये क्या! चंद्रयान-2 के लैंड होने पहले ही ‘चांद’ पर पहुंच गया ये ‘अंतरिक्ष यात्री’

आपको बताते चले कि चांद का पूरा दिन यानी सूरज की रोशनी वाला पूरा समय पृथ्वी के 14 दिनों के बराबर होता है। 14 दिन बाद सूरज की रोशनी आनी बंद होती है। विक्रम और रोवर सूरज की रोशनी से ही सोलर पैनल के जरिए ऊर्जा पैदा करने में सक्षम है। अब चांद के उस हिस्से में सूरज की रोशनी नहीं पड़ेगी, जहां विक्रम लैंडर है। ऐसे में विक्रम लैंडर से संपर्क की सारी उम्मीदों पर विराम लगता दिख रहा है।

—PTC NEWS—