प्रमुख खबरें

कई राज्यों में कर्फ्यू के बाद रेलवे का बयान- ट्रेन सेवाओं को बंद करने की योजना नहीं

By Arvind Kumar -- April 18, 2021 2:23 pm -- Updated:April 18, 2021 2:23 pm

नई दिल्ली। देश में कोरोना की दूसरी लहर और कई राज्यों में कर्फ्यू के बाद रेल मंत्रालय स्पष्ट किया है कि इसका असर फिलहाल रेल सेवाओं पर नहीं पड़ेगा। रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि रेल मंत्रालय के समक्ष अभी तक किसी भी राज्य ने रेलगाड़ियों के परिचालन को स्थगित करने की मांग नहीं उठाई है। ट्रेन सेवाओं को कोविड से पूर्व स्तर के 70 प्रतिशत तक बहाल कर दिया है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि देशभर के विभिन्न स्थानों पर कोविड-19 के मरीजों को रखने के लिए 4000 आइसोलेशन कोच तैयार किए हैं।

कई राज्यों में कर्फ्यू के बाद रेलवे का बयान- ट्रेन सेवाओं को बंद करने की योजना नहीं

रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा ने कहा कि राज्यों ने जहां कहीं भी कंटेनमेंट जोन वाले स्थानों को लेकर चिंता जताई है, रेलवे ने ऐसे स्थानों पर जाने वाले यात्रियों को राज्य सरकारों के दिशा निर्देशों का पालन करने की सलाह दी है। उन्होंने कहा कि रेलवे आईआरसीटीसी की ई-टिकटिंग वेबसाइट के माध्यम से यात्रियों को राज्य सरकारों की मांग के अनुरूप यात्रा करते समय आरटी-पीसीआर परीक्षण या कोविड-19 की जांच की नकारात्मक रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए जागरूक कर रहा है।

Corona Restriction in India कई राज्यों में कर्फ्यू के बाद रेलवे का बयान- ट्रेन सेवाओं को बंद करने की योजना नहीं

यह भी पढ़ें- बॉर्डर पर नहीं रोके जाएंगे पर्यटक और हिमाचली, रिपोर्ट लाना जरूरी: सीएम

यह भी पढ़ें- चंडीगढ़: अब वर्कप्लेस पर लगा सकेंगे टीका, करना होगा ये काम

Corona Restriction in India कई राज्यों में कर्फ्यू के बाद रेलवे का बयान- ट्रेन सेवाओं को बंद करने की योजना नहीं

उन्होंने कहा कि भारतीय रेलवे वर्तमान में प्रतिदिन औसतन 1,490 मेल और एक्सप्रेस स्पेशल ट्रेनें और 5,397 उपनगरीय ट्रेन सेवाएं चला रही है। उन्होंने कहा कि हम अधिक मांग वाली ट्रेनों की 28 क्लोन ट्रेनें और 947 यात्री ट्रेनों भी चला रहे हैं। कुल मिलाकर ट्रेन सेवाओं को कोविड से पूर्व स्तर के 70 प्रतिशत तक बहाल कर दिया है।

उन्होंने कहा, देश भर में अतिरिक्त भीड़ की सुविधा के लिए रेलवे 140 अतिरिक्त ट्रेनों का संचालन कर रहा है। यह रेलगाड़ियां अप्रैल-मई के दौरान 483 फेरे लगाएंगी। यह रेलगाड़ियां अधिक मांग वाले शहरों जैसे गोरखपुर, पटना, दरभंगा, वाराणसी, गुवाहाटी, मंडुआडीह, बरौनी, प्रयाग राज, बोकारो, रांची, लखनऊ, कोलकाता और भागलपुर के लिए चलाई जा रही हैं।

  • Share