किसान आंदोलन को लेकर अब किसान ही आमने-सामने

By Arvind Kumar - June 23, 2021 2:06 pm

टीकरी बॉर्डर, बहादुरगढ़। (प्रदीप धनखड़) किसान आंदोलन को लेकर अब किसान ही आमने सामने खड़े होते नजर आ रहे हैं। एक तरफ़ करीबन सात माह से किसान दिल्ली बॉर्डर पर धरना दे रहे हैं वंही बीकेयू मान गुट अब खुलकर सरकार के पक्ष में खड़ा हो गया है। मुख्यमंत्री से मुलाकात के बाद बीकेयू मान गुट ने भारतीय किसान यूनियन वे बैनर तले मुख्यमंत्री की रैली कराने की बात कही है। गुरुनाम चढूनी को खुली चुनौती भी दी है कि रैली का विरोध कर के तो दिखाए।

हालांकि किसान रैली की तारीख अभी तय नही हुई है। इसी बीच टीकरी बॉर्डर के किसान नेताओ ने बीकेयू मान गट द्वारा संभावित मुख्यमंत्री मनोहरलाल की सभा / रैली का विरोध करने की बात कह दी है। टीकरी बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसान नेताओं का कहना है कि यह किसान को किसान से लड़ाने की साजिश रची जा रही है। इसे कामयाब नही होने दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें- ना मंडी बंद हुई, ना MSP कम हुआ, कृषि को आधुनिक व मजबूत कर रही सरकार: डिप्टी सीएम

यह भी पढ़ें- हुड्डा का आरोप- भर्तियां करने की बजाए, रद्द करने में जुटी है सरकार

टिकरी बॉर्डर पर बीकेयू घासीराम नैन गुट के प्रधान जोगेन्दर नैन का कहना है कि संयुक्त मोर्चा के निर्देशानुसार वे पहले से ही प्रदेश भर में बीजेपी और जेजेपी के नेताओं के कार्यक्रम का विरोध कर रहे हैं और आगे भी विरोध जारी रखेंगे। उनका कहना है कि किसान आंदोलन में मान गुट किसानी संघर्ष में शामिल नही है। वहीं महिला किसान नेत्री सुदेश ने कहा वे मुख्यमंत्री का हर सूरत में विरोध करेंगे।

आपको बता दें कि कल बीकेयू मान गुट के अध्यक्ष गुनीप्रकाश ने कृषि कानूनों के पक्ष में बयान दिया था। साथ ही मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मुलाकात भी की थी। जिसे लेकर अब टीकरी बॉर्डर कमेटी ने अपनी प्रतिक्रिया दी है।

adv-img
adv-img