अब सरपंचों से करवाई जाएगी गेहूं की खरीद, आढ़तियों की हड़ताल के चलते निकाला नया विकल्प

By Arvind Kumar - April 22, 2020 4:04 pm

हिसार। गेहूं के खरीद के पहले दिन से ही आढ़ती एसोसिएशन ने प्रशासन के खिलाफ अपनी हड़ताल शुरू कर दी थी। जो आज तीसरे दिन भी जारी है। इस हड़ताल के दौरान सरकार ने एक नया विकल्प निकाला है और सरपंचों की गेंहू खरीदने के लिए जिम्मेदारी लगाई गई है। उकलाना के किसान विश्राम गृह में बरवाला के एसडीएम राजेश कुमार की अध्यक्षता में उकलाना खंड के सभी सरपंचों की एक मीटिंग बुलाई गई, जिसमें सरपंचों को गेहूं खरीदने के लिए विचार विमर्श किया गया।

एसडीएम बरवाला राजेश ने जानकारी देते हुए बताया कि आढ़तियों की हड़ताल चल रही है उसको देखते हुए सरकार के आदेशानुसार अब सरपंचों को टेंपररी लाइसेंस दिए जाएंगे, जिसके तहत वो गेहूं की खरीद कर सकते हैं। एसडीएम बरवाला ने कहा कि सभी सरपंच गेहूं की खरीद के लिए अपनी अनुमति दे चुके हैं और कोशिश रहेगी कि आज से ही गेहूं की खरीद शुरू कर दी जाए। उन्होंने यह भी बताया कि जिस प्रकार से आढ़तियों के खाते में पैसा आता था ठीक उसी प्रकार से किसानों के खाते में अब पैसा आएगा। एसडीम बरवाला ने कहा कि किसानों की गेहूं की खरीद के लिए कोई लिमिट नहीं है किसान जितनी गेहूं लेकर आएंगे वह खरीदी जाएगी।

wheatवहीं मुगलपुरा के सरपंच बबलू खटोड़ ने बताया कि सरपंचों की एक मीटिंग एसडीम बरवाला ने ली जिसमें उन्हें गेहूं खरीदने बारे कहा गया तो सभी सरपंचों ने गेहूं खरीदने का कार्य शुरू कर दिया है। इसके लिए उन्हें लड़ाई प्रतिशत कमीशन भी मिलेगा।

अब देखने वाली बात यह है कि आढ़तियों की हड़ताल के बीच में सरपंचों द्वारा करवाई जाने वाली खरीद को लेकर सरकार का यह कदम कितना सार्थक साबित होता है, और किसान आढ़तियों को छोड़कर क्या सरपंचों के मार्फत अपनी फसल बेचने को तैयार हो जाएंगे।

---PTC NEWS---

adv-img
adv-img