पाक से आए नागरिकों ने जलाए पुराने पाकिस्तानी दस्तावेज, CAB को लेकर जताई खुशी

Documents Burnt 1
पाक से आए नागरिकों ने जलाए पुराने पाकिस्तानी दस्तावेज, CAB को लेकर जताई खुशी

फतेहाबाद। (साहिल रुखाया) पाकिस्तान से भारत आए हिंदू परिवारों को अब भारतीय नागरिकता मिलने का रास्ता साफ हो गया है। इसी को लेकर फतेहाबाद के रतिया इलाके में बसे पाकिस्तानी नागरिकों ने आज मिठाई बांटकर सरकार का धन्यवाद किया। खुद को पाकिस्तान का सांसद बताने वाले डिवाया राम ने मिठाई बांटी और पाकिस्तान में उन पर हुए जुल्मों की दास्तां बताई। मीडिया से बातचीत करते हुए डिवाया राम ने बताया कि बेनजीर भुट्टो के राज में उन्हें रिजर्व सीट में सांसद बनाया गया था। वह 90 दिनों तक सांसद रहे, लेकिन उनके मुसलमान ना होने की वजह से उन्हें प्रताड़ित किया जाने लगा। उनके परिवार की बेटी को उठा लिया गया और उन पर इस्लाम धर्म अपनाने का दबाव बनाया जाने लगा। जिसके बाद मजबूर होकर उन्होंने सांसद पद छोड़ दिया।

Diwaya Ram
पाक से आए नागरिकों ने जलाए पुराने पाकिस्तानी दस्तावेज, CAB को लेकर जताई खुशी

डिवाया राम ने बताया कि उनका मामला सुप्रीम कोर्ट तक भी गया, लेकिन जज ने उन्हें इस्लाम धर्म अपनाने की सलाह दी। जिसके बाद उन्होंने पाकिस्तान छोड़ दिया और 19 वर्षों से भारत में रह रहे हैं। उन्हें याद है कि मुसलमान ना होने पर किस कदर उन्हें प्रताड़ित किया जाता था। आज उन्होंने अपने साथियों के साथ पाकिस्तानी दस्तावेजों को जला दिया है। उन्होंने कहा कि उनका नया जन्म हुआ है और वह भारत के नागरिक बन रहे हैं। मिठाई बांटकर आज उन्होंने खुशी मनाई।

Papu 1
पाक से आए नागरिकों ने जलाए पुराने पाकिस्तानी दस्तावेज, CAB को लेकर जताई खुशी

वहीं वर्ष 2006 में पाकिस्तान से भारत आए हिंदू परिवार के पप्पू राम ने भी डिवाया राम के साथ ही मिठाई बांटकर खुशी मनाई। पप्पू ने बताया कि पाकिस्तान में उन्हें अछूत समझा जाता था। मुसलमान उनके बाल तक नहीं काटते थे और बाजार में उन्हें सामान खरीदने के लिए भी दुत्कार सहनी पड़ती थी। पप्पू राम ने अपने गले पर लगे चाकू के जख्म दिखाते हुए बताया कि मुसलमान ना होने के चलते उन पर कई बार हमले भी किए गए, जिसके निशान अभी भी उनके जिस्म पर लगे हुए हैं। उन्होंने सरकार का धन्यवाद किया और कहा कि अब वह भारत के नागरिक हैं, उन्हें इस बात की खुशी है।

यह भी पढ़ें : संसद में गूंजा फिल्म पानीपत का मुद्दा, सांसद बृजेंद्र सिंह ने बैन लगाने की मांग की

—PTC NEWS—