अपराध/हादसा

कर्ज उतारने के लिए साथियों के साथ लूटा बैंक, 2 साल तक की मौज, अब चढ़े पुलिस के हत्थे

By Arvind Kumar -- July 21, 2020 9:07 am -- Updated:Feb 15, 2021

पानीपत। सनोली रोड पर भीमगोडा मंदीर चौक के पास स्थित आईआईएफएल गोल्ड लोन ऑफिस (बैंक) मे दिन दहाड़े डकैती की वारदात को अंजाम देने वाले पांच आरोपियों को जिला की सीआईए-थ्री पुलिस टीम ने काबू करने मे बड़ी कामयाबी हासिल की है।

आरोपी वारदात को अंजाम दे करीब 2 करोड़ रूपये कीमत की ज्वैलरी व 2 लाख रूपये की नगदी लूटकर ले गए थे। पुलिस महानिदेशक हरियाणा द्वारा वारदात के आरोपियों बारे सूचना देने की एवज मे 2 लाख रूपये की ईनाम राशि घोषित की हुई थी। आरोपियों के कब्जे से 52 लाख 25 हजार रूपये की नगदी, 81.310 ग्राम ज्वैलरी, एक कार, वारदात मे प्रयुक्त बाइक व 3 देशी पिस्तौल बरामद हुए हैं।

पकड़े गए आरोपियों की पहचान दाउद पुत्र यासिन निवासी रोशनपुरा सहारनपुर यूपी, इमरान पुत्र गयूर निवासी आलदी जिला शामली यूपी हाल किरायेदार शांति नगर पानीपत, बिजेन्द्र उर्फ बिन्द्र पुत्र किशनचंद निवासी बाम्बरहेडी जिला करनाल हाल भारत नगर पानीपत, राजीव उर्फ जेपी पुत्र जिले सिंह निवासी थूआ (छातर) जिला जीन्द व सन्नी उर्फ डाक्टर पुत्र प्रेमसिंह निवासी सिम्भालखा शामली यूपी हाल बबैल रोड़ पानीपत के रूप मे हुई।

Panipat Bank Robbery | Bank looted with friends to pay off debt

उप-पुलिस अधीक्षक मुख्यालय सतीश कुमार ने बताया कि पुलिस अधीक्षक मनीषा चौधरी के दिशा निर्देशन मे कार्रवाई करते हुए सीआईए-थ्री प्रभारी इंस्पेक्टर अनिल छिल्लर व उनकी टीम ने सनोली रोड पर भीमगोडा मंदीर चौक के पास स्थित आई.आई.एफ.एल गोल्ड लोन ऑफिस (बैंक) मे वर्ष 2018 मे हुई करीब 2 करोड़ रूपये से ज्यादा की डकैती की वारदात का पर्दाफाश किया है। उन्होंने बताया उक्त वारदात जिला की अब तक की सबसे बड़ी बैंक डकैती की वारदात थी।

Panipat Bank Robbery | Bank looted with friends to pay off debt

आरोपियों से गहनता से पूछताछ करने व डकैती की वारदात को अंजाम दे लूटे गए जैवरात व नगदी बरामद करने के लिए पांचों आरोपियों को न्यायालय में पेश कर पांच दिन के पुलिस रिमांड पर लिया गया है।

उप-पुलिस अधीक्षक सतीश कुमार ने बातया की रिमांड के दौरान आरोपियों से की गई पूछताछ में सामने आया की गिरोह का मास्टर माइंड आरोपी दाउद जूए में 5 लाख रूपये हार गया था। उसने 5 लाख रूपये का कर्ज उतारने के लिए साथियों के साथ योजना बनाई और सभी ने रैकी उपरांत आई.आई.एफ.एल गोल्ड लोन आफिस में डकैती की वारदात को अंजाम दिया।

---PTC NEWS---

  • Share