संसद का शीतकालीन सत्र, हर मुद्दे पर चर्चा को तैयार सरकार

Sansand
संसद का शीतकालीन सत्र, हर मुद्दे पर चर्चा को तैयार सरकार

नई दिल्ली। संसद का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हो रहा है। सत्र के लिए सांसद पहुंचने शुरू हो गए हैं। सत्र से पहले प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि हम सभी मामलों पर स्पष्ट चर्चा चाहते हैं। यह महत्वपूर्ण है कि गुणवत्ता पूर्वक बहस होनी चाहिए, सभी को संसद में चर्चा को समृद्ध बनाने में योगदान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि 2019 का आखिरी सत्र है और बहुत महत्वपूर्ण सत्र है। यह राज्यसभा का 250वां सत्र है। 26 नवंबर को संविधान दिवस है। संविधान देश की एकता, अखंडता और सौंदर्य को अपने में समेटे हुए है।

PM Modi (1)
संसद का शीतकालीन सत्र, हर मुद्दे पर चर्चा को तैयार सरकार

प्रधानमंत्री ने कहा कि पिछले दिनों सभी दलों के नेताओं से मिलने का मौका मिला। पिछला सत्र अभूतपूर्व सिद्धियों से भरा रहा, यह सिद्धी पूरे सदन की होती है। सभी सांसद इसके हकदार होते हैं। यह सत्र देश के विकास को गति देगा। उन्होंने कहा कि मैं सकारात्मक सक्रिय भूमिका के लिए सभी सांसदों का आभार व्यक्त करता हूँ और आशा करता हूँ कि ये सत्र भी देश की विकास यात्रा को, देश को गति देने में और दुनिया जिस तेज़ी से आगे बढ़ रही है उसके साथ कदम मिलाने का सामर्थ्य हम हमारी संसद में भी प्रकट करें।

यह भी पढ़ेंहरियाणा में ‘विदेश सहयोग विभाग’ होगा स्थापित, सीएम ने की घोषणा

आपको बता दें कि यह सत्र शुक्रवार 13 दिसंबर, 2019 को समाप्त हो सकता है। सत्र के दौरान 27 विधेयकों को चर्चा कराने और पारित कराने के लिए पेश किया जाएगा। इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट (उत्पादन, निर्माण, आयात, निर्यात, परिवहन, बिक्री, वितरण, भंडारण और विज्ञापन) निषेध अध्यादेश, 2019 और विधि कराधान (संशोधन) अध्यादेश, 2019 के स्थान पर दो विधेयकों को आगामी शीतकालीन सत्र के दौरान पारित किया जाना आवश्यक है। इस सत्र की 26 दिन में 20 बैठकें होंगी जिनमें निजी सदस्यों के कामकाज के चार दिन भी शामिल हैं।

—PTC NEWS—