राम मंदिर पर बयानबाजी कर फंसे ओवैसी, सुप्रीम कोर्ट में अवमानना याचिका दायर

Plea in Supreme Court seeks contempt proceedings against Owaisi

अंबाला। (कृष्ण बाली) अयोध्या में श्री राम मंदिर भूमि पूजन से पहले बयानबाजी करने वाले सांसद असदुद्दीन ओवैसी अब अपनी बयानबाजी को लेकर घिरते नजर आ रहे हैं। दरअसल 30 जुलाई व 5 अगस्त अयोध्या राम मंदिर शिलान्यास के दिन ओवैसी ने बयान दिया व ट्वीट किया था कि मोदी राम मंदिर पूजन में न जाये व कहा था कि बाबरी मस्जिद को शहीद किया गया था और वहां पर हमारी मस्जिद है वहां मस्जिद ही रहेगी।

इस मामले में अब एंटी ट्रेरिस्ट फ्रंट और हिन्दू तख्त ने ओवैसी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर कर दी है। फ्रटं के राष्ट्रीय अध्यक्ष का कहना है कि साफ तौर पर ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के श्री राम मंदिर जन्मभूमि के पक्ष में फैसला आने के बाद ऐसा बयान देकर उच्च अदालत के आदेशों की अवमानना की जिसके बाद इस मामले में कड़ा संज्ञान लेते हुए सांसद असदुद्दीन ओवैसी के खिलाफ एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं श्री हिन्दू तख्त के राष्ट्रीय प्रचारक वीरेश शांडिल्य व एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के दिल्ली प्रदेशाध्यक्ष राकेश गौड़ ने संयुक्त रूप से सुप्रीम कोर्ट में शुक्रवार को अवमानना याचिका दायर कर दी है जो सुप्रीम कोर्ट द्वारा स्वीकार कई ली गई है।

Plea in Supreme Court seeks contempt proceedings against Owaisi

मामले में अब अगले सोमवार तक सुनवाई हो सकती है। श्री हिन्दू तख्त राष्ट्रीय प्रचारक वीरेश शांडिल्य व राकेश गौड़ का याचिका में आरोप है कि ऐसा बयान देकर ओवैसी ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश का अनादर किया व आदेशों की अवमानना की है व देश के सनातन धर्म समाज को राम जन्मभूमि के शिलान्यास से पहले भड़काने का काम किया व देश की एकता और अखंडता को भंग करने का प्रयास किया व् सुप्रीम कोर्ट को भी ललकारा है।

—PTC NEWS—