हरियाणा

PM Modi security breach: जानिए कैसी होती है पीएम की सिक्योरिटी, फिरोजपुर से पहले कब कब हुई पीएम मोदी की सुरक्षा में चूक

By Vinod Kumar -- January 06, 2022 1:19 pm -- Updated:January 06, 2022 1:19 pm

PM Modi security breach: पीएम मोदी का काफिला (Prime Minister Convoy) बुधवार को फिरोजपुर में मुदकी के पास फ्लाई ओवर पर लगभग 20 मिनट तक फंसा रहा। सबसे बड़ी बात बात यह है कि इस स्थान से पाकिस्तान का बॉर्डर (pakistan border) सिर्फ 50 किलोमीटर ही दूर है। इस नजरिए से भी प्रधानमंत्री की सुरक्षा (Prime Minister Security) के साथ बड़ी चूक हुई है। वहीं, पंजाब सरकार और कांग्रेस इसे चूक मानने को तैयार नहीं है। वहीं, बीजेपी इसे पंजाब सरकार और कांग्रेस पार्टी की साजिश करार दे रही है।

फिरोजपुर में हुई पीएम की सुरक्षा में चूक के बाद कांग्रेस प्रवक्ता ने एक ट्वीट किया। ट्वीट  में उन्होंने दो खबरों को शेयर किया जब पीएम का काफिला सड़क पर फंसा था। 15 सितंबर 2018 को 'स्वच्छता ही सेवा' मुहिम की शुरुआत के दौरान पीएम मोदी का काफिला दिल्ली की ट्रैफिक के बीच फंस गया था।

 

वहीं, 25 दिसंबर 2017 को नोएडा में मेजेंटा लाइन के उद्घाटन के दौरान भी पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी अदित्यानाथ का काफिला सड़क पर फंस गया था। इन्हीं खबरों को आधार बनाकर सुरजेवाला ने बीजेपी पर कटाक्ष किया है।

हलांकि इन तीनों घटनाओं को देखें तो तीनों में पीएम की सुरक्षा में चूक तो हुई है, लेकिन दिल्ली और नोएडा की घटनाओं के मुकाबले फिरोजपुर की घटना में काफी अंतर है। फिरोजपुर में पीएम का काफिला जानबूझकर रोका गया था। प्रदर्शनकारियों ने सड़कों को जाम कर दिया था। यहां लगभग 20 मिनट तक पीएम का काफिला हाईवे पर फंसा रहा। पंजाब सरकार और पुलिस को पहले से ही इसकी जानकारी थी, लेकिन इसके बाद भी कोई कदम नहीं उठाए गए।

बता दें कि पीएम की सिक्योरिटी एकदम कड़ी होती है। हमेशा एसपीजी के जवान उनकी सुरक्षा में रहते हैं। पीएम के किसी भी दौरे से पहले उस जगह का एसपीजी निरीक्षण करती है। इसके साथ ही जहां से पीएम का काफिला गुजरता है उस सड़क मार्ग की भी कड़ी निगरानी की जाती है। एसपीजी की हामी के बाद ही पीएम के काफिले को निकलने की मंजूरी मिलती है।

  • Share