पंजाब में स्कूल वैन हादसे के बाद जागी पुलिस, स्कूल वाहनों की चैकिंग कर जांची सुविधाएं

Haryana News | Police check school vehicles in Dadri Area
पंजाब में स्कूल वैन हादसे के बाद जागी पुलिस, स्कूल वाहनों की चैकिंग कर जांची सुविधाएं

दादरी। (कृष्ण सिंह) स्कूल ट्रांसपोर्ट पॉलिसी की स्कूल वाहनों द्वारा किस कदर धज्जियां उड़ाई जा रही हैं, यह नजारा चरखी दादरी में भी देखने को मिला। एक वैन में बच्चों को ठूंस-ठूंसकर स्कूल ले जाया जा रहा है। एक सीट पर तीन-तीन बच्चों को बैठाया जाता है। इसके अलावा कई ऑटो और कैब तो कंडम हैं और इनमें भी बच्चों को घर से स्कूल तक का सफर कराया जा रहा है। इस तरफ न तो आरटीए विभाग ध्यान दे रहा है और न ही ट्रैफिक पुलिस। हालांकि पंजाब के लोंगवाल में हुए स्कूली वाहन हादसे में चार बच्चों की मौत के बाद पुलिस प्रशासन सतर्क हो गया है। ट्रैफिक पुलिस ने अभियान चलाकर स्कूल वाहनों में सुविधाएं जांची और चालकों को निर्देश व चेतावनी देते हुए छोड़ दिया गया।

Haryana News | Police check school vehicles in Dadri Area
पंजाब में स्कूल वैन हादसे के बाद जागी पुलिस, स्कूल वाहनों की चैकिंग कर जांची सुविधाएं

दादरी जिला में निजी स्कूलों द्वारा स्कूल ट्रांसपोर्ट पॉलिसी की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं! ट्रांसपोर्ट सुविधा के नाम पर शहर के कई निजी स्कूलों ने मैक्सी कैब और ऑटो हायर कर रखे हैं जिनमें नियमों के विरुद्ध बच्चों को बैठाया जाता है। स्कूलों द्वारा हायर किए गए वाहनों पर तो पीला रंग है और न ही चालक वर्दी में होते हैं। गत दिनों लोंगवाल में हुए स्कूली वाहन हादसे में चार बच्चों की मौत हो गई थी। इससे पहले भी नियमों को ताक पर रखने से कई स्कूली वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो चुके हैं जिनमें कई बच्चों को जान से हाथ धोना पड़ा।

Haryana News | Police check school vehicles in Dadri Area
पंजाब में स्कूल वैन हादसे के बाद जागी पुलिस, स्कूल वाहनों की चैकिंग कर जांची सुविधाएं

स्कूलों द्वारा हायर किए वाहनों की पड़ताल की तो चौंकाने वाले स्थिति सामने आई। ऑटो में18 से 20 बच्चे सवार मिले और कई बच्चों के शरीर का हिस्सा भी ऑटो से बाहर आया हुआ मिला। सड़कों पर सुबह और दोपहर के समय नियमों को ताक पर रखकर ऑटो और मैक्सी कैब दौड़ रही हैं लेकिन नियमित कार्रवाई नहीं हो पा रही। हालांकि ट्रैफिक पुलिस द्वारा स्कूली वाहनों की चैकिंग की गई। इस दौरान कुछ वाहनों में सीसीटीवी नहीं लगे मिले तो किसी मैक्सी कैब की अगली सीट पर तीन बच्चे बैठे मिले। वहीं, ऑटो में 18 से 20 बच्चे तक बैठे मिले।

यह भी पढ़ें: रॉकी मित्तल बोले- हरियाणा में हजार लड़कियों पर हैं 10 मनचले

—PTC NEWS—