शिक्षा

हरियाणा: सरकारी स्कूल में 9वीं से कराई प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी, 3 जुलाई से होगा रजिस्ट्रेशन

By Vinod Kumar -- June 30, 2022 3:24 pm

सरकारी स्कूल के छात्रों को प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अब शुरू से ही तैयार किया जाएगा। नौवीं कक्षा से छात्रों को कोचिंग उपलब्ध कराने के लिए आज बृहस्पतिवार को पंचकूला के इंद्रधनुष ऑडिटोरियम से बुनियाद कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया।

सेकेंडरी शिक्षा विभाग के महानिदेशक डॉ जे गणेशन की ओर से आज प्रदेश के 51 बुनियाद सेंटर से एक साथ कार्यक्रम की शुरुआत की गई। इस मौके पर निदेशक मौलिक शिक्षा डॉ अंशज सिंह और अतिरिक्त निदेशक अमृता सिंह और विकल्प फाउंडेशन के संस्थापक नवीन मिश्रा मौजूद रहे।

कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा विभाग से सभी DEO,ABRC,DPC और दूसरे अधिकारिओं और सम्बंधित स्टॉफ को बुलाया गया था ताकि इस कार्यक्रम को सही तरीके से स्कूल स्तर पर लागू किया जा सके।

गौरतलब है कि स्कूल शिक्षा विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ महावीर सिंह के नेतृत्व में बुनियाद कार्यक्रम की पूरी योजना तैयार की गई है, जिसके तहत सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले छात्रों को नौवीं कक्षा से ही NTSE (National Talent Search Examination) और KVPY(Kishore Vaigyanik Protsahan Yojna) जैसी प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कराई जाएगी।

इस कोचिंग के लिए प्रदेश भर से 51 बुनियाद केंद्रों का चयन किया गया है, ताकि छात्रों को अपने स्कूल और घर के नजदीक ही कोंचिंग दी जा सके। बुनियाद योजना में 2 चरण होंगे, पहले चरण में प्रत्येक जिले से करीब 150 से 200 बच्चे ऑनलाइन कोचिंग लेंगे। 3 जुलाई से कोचिंग के लिए रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया शुरू होगी और 18 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन होगा।

Books, government schools, Haryana, education

पहले चरण में कुल 3 हजार बच्चे होंगे जो कि सभी जिलों के 51 बुनियाद सेंटर में कोचिंग लेंगे, इन बच्चों का चयन भी परीक्षा के आधार पर ही किया जाएगा।सभी बच्चे ऑनलाइन ही इन बुनियाद सेंटर और टेबलेट के जरिये कोचिंग लेंगे और रेवाड़ी ही कोचिंग का मुख्य केंद्र रहेगा।

schools, haryana school, haryana, school timing

कोचिंग लेने वाले छात्रों के लिए ड्रेस,किताबें, टेबलेट,बैग और परिवहन जैसी सभी व्यवस्था विभाग की ओर से ही उपलब्ध कराई जाएगी। जैसे ही ये छात्र दसवीं में पहुंचेंगे फिर से नौवीं कक्षा के छात्रों को परीक्षा के आधार पर बुनियाद में रजिस्ट्रशन का मौका दिया जाएगा ,जिससे अगले वर्ष इन छात्रों की कुल संख्या करीब 6 हजार होगी। पहले चरण में मेरिट में रहने वाले 400 छात्रों को दूसरे चरण में NTSE की तैयारी कराई जाएगी जबकि बचे हुए छात्रों को जेईई और नीट की तैयारी कराई जाएगी।

  • Share