मासूम बच्चों के भविष्य से खिलवाड़, बिना नोटिस के ही निजी स्कूल में लटका दिया ताला

School Closed
मासूम बच्चों के भविष्य से खिलवाड़, बिना नोटिस के ही निजी स्कूल में लटका दिया ताला

गुरुग्राम। (नीरज वशिष्ठ) साइबर सिटी गुरुग्राम में मासूम बच्चे निजी स्कूलों की मनमानी का शिकार हो रहे हैं। ताजा मामला सेक्टर 57 के नोबेल हाई स्कूल का है। स्कूल प्रशासन ने रात 11 बजे अभिभावकों को स्कूल बंद करने का मैसेज किया जिसके बाद सैंकड़ों अभिभावक स्कूल पहुंचे और प्रबंधन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

बताया जा रहा है कि स्कूल प्रबंधन ने टीचरों को तीन महीने से सैलरी भी नहीं दी है। जिसकी वजह से टीचर्स ने पढ़ाना बंद कर दिया है। इस पर स्कूल प्रशासन ने अचानक स्कूल को बंद करने का ऐलान कर दिया।

Noble High School
गुरुग्राम के सेक्टर 57 में स्थित है नोबेल हाई स्कूल

अभिभावकों की चिंताएं उस समय और बढ़ गई जब उन्हें पता चला कि स्कूल मान्यता प्राप्त भी नहीं है और ये स्कूल पिछले काफी समय से बिना मान्यता के ही चलाया जा रहा है। इस हंगामें की सूचना जब पुलिस को लगी तो वो दलबल के साथ स्कूल के बाहर पहुंचे। इतने में सूचना लगते ही जिला शिक्षा अधिकारी भी मौके पर पहुंच गईं और स्कूल प्रबंधन के साथ मीटिंग कर मामले की जानकारी लेने लगी। जिला शिक्षा अधिकारी ने स्कूल प्रंबधन को चेतानवी दी कि यदि स्कूल को एग्जाम से पहले बंद किया तो स्कूल के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी और उन्हें बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ नहीं करने दिया जाएगा।

School
अभिभावकों ने स्कूल प्रबंधन के खिलाफ की नारेबाजी

करीब 6 घंटो तक अभिभावकों ने स्कूल के बाहर प्रोटेस्ट किया जिसके बाद वो जिला शिक्षा अधिकारी के आश्वासन के बाद वहां से हटे। जिला शिक्षा अधिकारी ने अभिभावकों को बताया कि स्कूल को मार्च से पहले बंद नहीं किया जाएगा और किसी भी बच्चे का भविष्य खराब नहीं किया जाएगा। ऐसे में अब सवाल उठता है कि इतने हाइटेक शहर में बिना मान्यता के स्कूल कैसे चलाया जा रहा था और शिक्षा विभाग को इसकी जानकारी क्यों नहीं लगी?

यह भी पढ़ेंस्कूल में हुई कहासुनी खूनी संघर्ष में बदली, जूनियर छात्र ने सीनियर को घोंपा चाकू