हरियाणा में दो ड्रग तस्करों की संपत्ति अटैच, अन्य पर भी कार्रवाई की तैयारी

Drug traffickers
हरियाणा में दो ड्रग तस्करों की संपत्ति अटैच, अन्य पर भी कार्रवाई की तैयारी

चंडीगढ़। युवाओं की जिंदगी से खिलवाड़ करने वाले नशा माफियाओं की संपत्ति अटैच करने की कार्रवाई शुरू कर दी गई है। हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने आज यहां यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस द्वारा नशे की खिलाफ चलाई जा रही मुहिम के अंतर्गत फतेहाबाद जिला में एनडीपीएस अधिनियम के तहत गिरफ्तार किए गए दो तस्कर भाईयों की लाखों रुपये की संपत्तियां अटैच करने की संबंधित विभाग द्वारा मंजूरी मिल गई है।

उन्होंने कहा कि सदर रतिया पुलिस ने नवम्बर 2018 में गश्त के दौरान एक टैक्टर से 9 कविंटल 72 किलो 600 ग्राम कचरा डोडा पोस्त बरामद किया था। इस मामले में पुलिस ने गांव कलोठा निवासी दो भाई बलजीत व रणजीत को गिरफ्तार किया था।

Drug traffickers
हरियाणा में दो ड्रग तस्करों की संपत्ति अटैच, अन्य पर भी कार्रवाई की तैयारी

बलजीत और रणजीत दोनों के खिलाफ नशा तस्करी के अनेक मामले दर्ज हैं। पुलिस ने एनडीपीएस अधिनियम की धारा 68 एफ के तहत इनकी चल-अचल सम्पति अटैच करने के लिए सम्बंधित प्राधिकरण को पत्र लिखा था। अब प्राधिकरण द्वारा इनकी सम्पति अटैच की मंजूरी दे दी गई है और इस बारे राजस्व विभाग को भी सूचित कर दिया गया है।

यह भी पढ़ें- राज्यसभा सांसद दुष्यंत कुमार गौतम बोले- बरोदा में खिलेगा कमल का फूल

Drug traffickers
हरियाणा में दो ड्रग तस्करों की संपत्ति अटैच, अन्य पर भी कार्रवाई की तैयारी

educare

उन्होंने बताया कि बलजीत सिंह के लड़के लखविन्द्र की 4 कनाल 5 मरले 9 सरसाई जमीन व एक ट्रैक्टर तथा रणजीत सिंह के लड़के की 4 कनाल 5 मरले 9 सरसाई जमीन को अटैच किया जाएगा। बलजीत पर कुल 12 मामले दर्ज हैं जिनमें 8 मामले एनडीपीएस एक्ट के हैं और वह अजमेर जेल में बंद है। वहीं रणजीत पर 6 मामले दर्ज है जिसमें 4 एनडीपीएस एक्ट के है और वह हिसार जेल में बंद है।

यह भी पढ़ें- सेना की ताकत बढ़ी, सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का सफल परीक्षण

Drug traffickers
हरियाणा में दो ड्रग तस्करों की संपत्ति अटैच, अन्य पर भी कार्रवाई की तैयारी

पुलिस की इस कार्रवाई से अब ड्रग तस्करों को एक कड़ा संदेश भी जाएगा कि अगर उन्होंने अब भी इस अवैध धंधे से किनारा नहीं किया तो उनकी भी सम्पति जब्त हो सकती है। इसी बीच पुलिस महानिदेशक मनोज यादव ने कहा कि नशा तस्कर अपने काले कारनामों से बाज आएं अन्यथा उन्हें किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।