5 साल में रेलवे ने 6,000 से अधिक स्टेशनों को किया फ्री वाई-फाई सुविधा से लैस

नई दिल्ली। भारतीय रेलवे की विकास यात्रा के पहिये देशभर में लगातार घूम रहे हैं। ये पहिए उस समय भी नहीं थमे, जब पूरी दुनिया कोरोना जैसी गंभीर बीमारी के कारण थम चुकी थी। उस वक्त भी भारतीय रेलवे निरंतर देश सेवा में जुटी रही। शायद यही वजह है कि महज 5 साल में भारतीय रेलवे ने देश के 6,000 से भी ज्यादा रेलवे स्टेशनों को फ्री वाई-फाई सुविधा से लैस कर दिया और आज सफर के दौरान रेल यात्री इस सुविधा का भरपूर लाभ उठा पा रहे हैं।

दरअसल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘डिजिटल इंडिया’ मिशन के तहत भारतीय रेलवे ने अपने यात्रियों और आम जनता को डिजिटल सिस्टम से जोड़ने के लिए दूर-दराज के स्टेशनों पर भी वाई-फाई सुविधा के विस्तार का महत्वपूर्ण कदम उठाया है। इसके तहत रेलवे ने श्रीनगर सहित कश्मीर घाटी के सभी 15 रेलवे स्टेशनों पर सार्वजनिक वाई-फाई सुविधा उपलब्ध कराने का काम पूरा कर लिया है।

यह भी पढ़ें- हरियाणा में कैबिनेट फेरबदल की चर्चाओं का सीएम ने किया खंडन

यह भी पढ़ें- पीएम किसान सम्मान निधि पाने वाले किसानों की मुश्किलें बढ़ीं


भारतीय रेलवे के 6,021 स्टेशन अब मुफ्त वाई-फाई नेटवर्क से जुड़ गए हैं। रेलवे ने यह उपलब्धि मात्र पांच साल में हासिल की है। उल्लेखनीय है कि भारतीय रेलवे ने जनवरी 2016 में मुंबई सेंट्रल रेलवे स्टेशन से मुफ्त वाई-फाई सुविधा की शुरुआत की थी।

रेल मंत्रालय ने रेलटेल को सभी रेलवे स्टेशनों पर वाई-फाई की व्यवस्था करने का कार्य सौंपा था। रेलटेल का सार्वजनिक वाई-फाई, रेलवायर के ब्रांड नाम के तहत उपलब्ध कराया जा रहा है, जो कश्मीर क्षेत्र के 15 स्टेशनों बारामूला, हम्रे, पट्टन, मझोम, बडगाम, श्रीनगर, पंपोर, काकापोरा, अवंतीपोरा, पंजगाम, बिजबेहरा, अनंतनाग, सदुरा, काजीगुंड और बनिहाल पर उपलब्ध है। ये स्टेशन कश्मीर के चार जिला मुख्यालयों श्रीनगर, बडगांव, बनिहाल और काजीगुंड में फैले हुए हैं।