फाइनेंसर के घर लूटपाट के मामले में खुलासा, जेल में बंद बदमाशों ने बनाई थी लूट की प्लानिंग 

Robbery at financier's house | Police arrested two accused

टोहाना। (सतीश अरोड़ा) शहर में शुक्रवार को दिनदहाड़े फाइनेंसर सुनील कुमार के घर हुई 30 लाख रूपए की लूटपाट के मामले में गिरफ्तार 2 आरोपियों से पूछताछ में कई खुलासे हुए हैं। डीएसपी टोहाना बिरम सिंह ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी पवन और अजय ने पूछताछ में बताया कि लूटपाट करने के लिए इन तीनों आरोपियों पवन, अजय और रोबिन ने जींद जेल में योजना बनाई थी, जेल में तीनों की मुलाकात हुई थी।

फाइनेंसर के घर वारदात का मास्टरमाइंड टोहाना निवासी पवन था। फाइनेंसर सुनील मंडी में पैसे फाइनेंस करता था और मंडी में ही पवन सब्जी और फ्रूट की रेहड़ी लगाता था। डीएसपी ने बताया कि शुक्रवार को सुनील के घर पैसे होने की जानकारी पवन को थी और उसने जींद निवासी अपने साथी अजय और रोबिन को लूटपाट डालने के लिए बुलाया और वारदात को अंजाम दिया।

Robbery at financier's house | Police arrested two accused

घटना के बाद भागते हुए इन तीनों बदमाशों को ग्रामीणों की मदद से पकड़ने का प्रयास किया गया और इस दौरान आरोपी रोबिन ने खेतों में भागते हुए पकड़े जाने के डर से खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। जबकि आरोपी पवन और अजय को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया था। 

डीएसपी ने बताया कि ये तीनों आरोपी आपराधिक प्रवृत्ति के हैं और इनके खिलाफ पहले कई मुकदमे दर्ज हैं। डीएसपी ने बताया कि आरोपी अजय के खिलाफ कलायत में एक बाबा की हत्या करने का मुकदमा दर्ज है और इस मामले में अजय मोस्ट वांटेड है। इसके अलावा रोबिन और पवन के खिलाफ भी छीना-झपटी, झगड़े और आर्म्स एक्ट के कई मामले दर्ज हैं। 

डीएसपी ने बताया कि गिरफ्तार दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेश कर 1 दिन के रिमांड पर लिया गया है। आरोपियों से लूटा गया गोल्ड बरामद हो गया है जबकि कैश और वारदात में प्रयोग किए गए हथियार बरामद किए जाने हैं।

—PTC NEWS—