कुछ हटके

रेवाड़ी के संजय कुमार ने सेना के लिए बनाया 'घातक हथियार', पहले भी दिखा चुके हैं कई करिश्में

By Vinod Kumar -- July 02, 2022 3:25 pm

देश की रक्षा के लिए विपरीत परिस्थितियों में बॉर्डर पर तैनात रहने वाले जवानों के लिए रेवाड़ी के युवा संजय शर्मा ने साइलेंट पट्रोलिंग मशीन बनाई है। इस मशीन को डिजाइन करते वक्त सैनिकों की सुरक्षा, सैनिकों को होने वाली परेशानी और टेक्नोलॉजी को ध्यान में रखा गया है, हालांकि इस मशीन में तकनीकि रूप से काफी कुछ जोड़ना बाकी है।

संजय शर्मा इससे पहले एक ऐसा हेलमेट भी बना चुके हैं, इस हेलमेट को लगाए बिना आपकी बाइक स्टार्ट ही नहीं होगी। ई-रिक्शा को मोडिफाई करके साइलेंट पट्रोलिंग मशीन का डेमो तैयार करने वाले संजय शर्मा रेवाड़ी जिले के गांव तिहाड़ा के रहने वाले हैं।

संजय जयपुर से एमबीए कर रहे हैं और एक साधारण परिवार से सबंध रखते हैं। उनके पिता निजी कंपनी में काम करते हैं। संजय ने कहा कि सरहद पर देश की सुरक्षा करने वाले हमारे सैनिक विपरीत परिस्थितियों में तैनात रहते हैं, जिनके लिए कुछ करने का हम सबका भी दायित्व बनता है। इसी सोच के साथ उसने साइलेंट पेट्रोलिंग मशीन को डिजाइन किया है, ताकि सुरक्षा के साथ-साथ हमारे जवान मौसम की मार से भी बच सकें।

बुलेट प्रूफ होगी पेट्रोलिंग मशीन
संजय शर्मा ने बताया कि ये मशीन एक सॉफ्टवेयर से इस्तेमाल की जा सकती है, जिसके लिए एक मोबाइल एप को डिजाइन किया गया। जिसके अंदर बैठकर ही जवान आसानी से पेट्रोलिंग कर पाऐंगे। साइलेंट पट्रोलिंग मशीन बुलेट प्रूफ होगी, जिसके अंदर गर्मी-सर्दी के मौसम को ध्यान में रखते हुए तामपान को सामान्य रखने के इंतजाम किए गए हैं।

इस मशीन के अंदर बैठकर ही जवान दुश्मन को टारगेट करके फायर कर पाएंगे। हैडक्वार्टर से सीधे संकर्क के लिए भी एक डिवाइस मशीन में लगाया गया है। खुफिया कैमरे और नाईटविजन कैमरे लगाए गए है।

संजय ने बताया कि मशीन के चार्जिंग के लिए सोलर पैनल लगाया गया है। साथ ही मशीन चलते वक्त खुद पे खुद चार्ज भी हो पाएगी। संजय शर्मा ने कहा कि फिलहाल ये मशीन देखने में सामान्य लग रही है, लेकिन विभिन्न क्षेत्रों के अनुसार इसकी बोडी मोडिफाई की जाएगी। साथ ही ये रडार सिस्टम में ना आए इसके लिए खुद पे खुद मशीन का रंग भी बदलता रहे इस दिशा में वो काम कर रहे है।

संजय शर्मा इससे पहले बिना हेलमेट बाइक स्ट्रार्ट ना हो पाने और बाइक को मोबाइल एप से ऑन-ऑफ करने के प्रोजेक्ट पर काम कर चुके है। संजय ने कहा कि उसके दोस्त की सड़क हादसे में मौत हो गई थी, जिसके बाद उसने एक ऐसा सिस्टम तैयार किया, जिससे कि बगैर हेलमेट लगाए बाइक-स्कूटर स्टार्ट ही नहीं होगी। ताकि कोई भी बगैर हेलमेट के बाइक ना चलाए। इस हेलमेट में इन्बिल्ड कैमरा भी लगाया जा सकता है, ताकि हादसे के दौरान पुलिस घटनाक्रम को देख सकें।

बाइक चोरी रोकने के लिए बनाया सॉफ्टवेयर
इसके आलावा भी संजय शर्मा ने बाइक चोरी की घटनाओं को रोकने के लिए एक सॉफ्टवेयर बनाया था, जो बाइक के इंजन के साथ कनेक्ट होगा और फिर बाइक चोरी होने की सूरत में मोबाइल फोन से ही बाइक इंजन को बंद किया जा सकता है। संजय ने कहा कि वो सभी प्रोजेक्ट पर आगे बढ़ना चाहते है, लेकिन आर्थिक मदद और कोई सहयोग ना मिलने के कारण उसे दिक्कत आ रही हैं। संजय शर्मा के इनोवेटिव आइडियाज काबिले तारीफ है। अगर उससे मदद मिले तो शायद वो काफी ओर अच्छा देश के लिए कर पाएगा।

  • Share