नड्डा की ताजपोशी से पहले कुलदेवी के दरबार में विशेष पूजा, गांव में खुशी का माहौल

Special worship in Kuldevi's temple for JP Nadda, villager distributes sweets
नड्डा की ताजपोशी से पहले कुलदेवी के दरबार में विशेष पूजा, गांव में खुशी का माहौल (File Photo)

बिलासपुर। (मुकेश गौतम) पूर्व केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा की राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर होने वाली ताजपोशी को लेकर बिलासपुर स्थित उनके गांव विजयपुर में खुशी का माहौल है। नड्डा की ताजपोशी को लेकर स्थानीय ग्रामीणों ने मिठाई बांटकर जहां अपनी खुशी जाहिर की तो साथ ही नड्डा के हमेशा आगे बढ़ने की कामना भी की है।

Special worship in Kuldevi's temple for JP Nadda, villager distributes sweets
नड्डा की ताजपोशी से पहले कुलदेवी के दरबार में विशेष पूजा, गांव में खुशी का माहौल

नड्डा की ताजपोशी से पहले कुल देवी के दरबार में विशेष पूजा अर्चना की जा रही है। हिमाचल प्रदेश का जिला बिलासपुर का विश्व विख्यात शक्तिपीठ श्री नैयना देवी भाजपा के पूर्व मंत्री राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा का की कुलदेवी हैं।  यहां पर स्थानीय पुजारियों के द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में जेपी नड्डा की सफलता को लेकर पूजा अर्चना की जा रही है, ताकि उनका राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में कार्यकाल सफल रहे और वह  देश और प्रदेश के उत्थान के लिए कार्य कर सकें। स्थानीय पुजारियों ने पूजा अर्चना करके आशा प्रकट की है कि जेपी नड्डा को जो नई जिम्मेदारी मिलेगी, उसका भी वह बड़ी बखूबी से निर्वहन करेंगे।

Special worship in Kuldevi's temple for JP Nadda, villager distributes sweets
नड्डा की ताजपोशी से पहले कुलदेवी के दरबार में विशेष पूजा, गांव में खुशी का माहौल

उल्लेखनीय है कि जब भी जेपी नड्डा को कोई बड़ी जिम्मेदारी मिली है तो वह सर्व प्रथम अपनी कुलदेवी माता श्री नैयना देवी के दरबार में परिवार सहित पहुंचते हैं। केंद्रीय मंत्री और राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बनने के बाद भी जब बह पहले हिमाचल दौरे पर आए तो सर्व प्रथम माता श्री नैयना देवी के दर्शन किए उसके पश्चात उनका अगला कार्यक्रम शुरू हुआ।
Special worship in Kuldevi's temple for JP Nadda, villager distributes sweets
नड्डा की ताजपोशी से पहले कुलदेवी के दरबार में विशेष पूजा, गांव में खुशी का माहौल

सन 1960 में पटना में एनएल नड्डा के घर जन्मे जेपी नड्डा ने पटना से ही एलएलबी की परीक्षा पास की और वह शुरू से ही एबीवीपी से जुड़े रहे, जिसके बाद नड्डा देवभूमि हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर आये, जहां विजयपुर में उन्होंने अपना आवास बना लिया। जेपी नड्डा पहली बार सन 1985 में पूर्व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में राजकीय माध्यमिक स्कूल कंदरौर को बाहरवीं क्लास का दर्जा दिलाने की लड़ाई में सामने आये जिसके बाद छात्र राजनीति में अपनी पहचान बनाकर नड्डा राजनीति के गलियारों में छा गए।

Special worship in Kuldevi's temple for JP Nadda, villager distributes sweets
नड्डा की ताजपोशी से पहले कुलदेवी के दरबार में विशेष पूजा, गांव में खुशी का माहौल

जेपी नड्डा प्रदेश की राजनीति में कदम रखते हुए सन 1993 में पहली बार बिलासपुर सदर सीट से विधायक चुने गए जिसके बाद सन 1998 में नड्डा को बिलासपुर की जनता ने दोबारा विधायक बनाकर विधानसभा भेजा। इसके बाद सन 2007 में जेपी नड्डा दोबारा विधायक बने और प्रेम कुमार धूमल की सरकार में उन्हें वन-पर्यावरण, विज्ञान व टेक्नोलॉजी विभाग का मंत्री बनाया गया जिसके बाद वर्ष 2012 में उन्हें राज्यसभा सांसद चुना गया। इसके बाद वर्ष 2014 में केंद्र में मोदी सरकार आने के बाद उन्हें केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री का पद मिला, जिसके बाद 2019 में दोबारा मोदी सरकार आने पर उन्हें मंत्रिमंडल से हटाकर संगठन में जगह दी गयी और उन्हें बीजेपी का राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष बनाया गया।

यह भी पढ़ें : JP Nadda की भाजपा अध्यक्ष पद पर ताजपोशी आज, जानिए कैसे पहुंचे इस मुकाम तक

—PTC NEWS—