गीता जयंती के अवसर पर बच्चों के बनाए प्रोजेक्ट बने लोगों के आकर्षण का केंद्र

Student
गीता जयंती के अवसर पर बच्चों के बनाए प्रोजेक्ट बने लोगों के आकर्षण का केंद्र

कुरुक्षेत्र। ( अशोक यादव ) कुरुक्षेत्र के उर्वशी घाट पर लगे स्टाल में जो कुछ प्रदर्शित हो रहा है उसे देख कर आप भी दंग रह जाएंगे खुद देखें कि निखिल/ आर्यन/ दक्ष और रजत द्वारा बनाए गए यह प्रोजेक्ट देखकर आप भी हैरान रह जाएंगे दरअसल, ये इन स्कूली बच्चों की सिर्फ एक वर्ष की मेहनत है। अक्सर मां-बाप को शिकायत रहती है कि उनके बच्चे का ध्यान पढ़ाई में नहीं होता और वह सारा दिन खेल या मोबाइल में व्यस्त रहता है लेकिन इन चारों बच्चों ने लीक से हटकर जो किया है उससे यह साबित होता है कि कौन कहता है कि आसमान में सुराख नहीं हो सकता एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारो।

 चारो बच्चो द्वारा बनाये प्रोजेक्टस की बानगी देखे आप खुद दंग रह जायेंगे, पहला स्मार्ट डस्टबिन है जो हाथ लगाते ही सेंसर से खुल जाता है और जब भर जाता है तो ओपन नहीं होता. एक अन्य प्रोजेक्ट जीपीएस सिस्टम से चलने वाली गूगल ड्राइविंग कार है जिसे जहां जाना हो बस मोबाइल से कमांड दीजिए अपने आप आपको वही पहुंचा देगी इसके अलावा एक अन्य प्रोजेक्ट होम ऑटोमेशन डीवाइस है जिससे कहीं बैठे मोबाइल किए कमांड से किसी भी बिजली से चलने वाला उपकरण एयर कंडीशन टेलीविजन या फिर लाइट जोकि आप घर पर चलती छोड़ आए हैं तो बंद हो जाएगी। इसके साथ ही एक वायरलेस डोर लॉक है जो मोबाइल से ऑपरेट होता है, स्मार्ट ब्लाइंड स्टिक जो जीपीएस से चलती है जिसमें आगे कोई बाधा आने पर बीप करती है या वाइब्रेट करती है यदि छड़ी का इस्तेमाल कर रहे हैं व्यक्ति की हार्ट बीट बढ़ जाए तो सेंसर से उनके परिजनों को मैसेज चला जाता है कुल मिलाकर ब्रह्मसरोवर के तट पर गीता जयंती के अवसर पर बच्चों के बनाए यह प्रोजेक्ट लोगों के आकर्षण का केंद्र बने हुए हैं।

यह भी पड़ेंएक जनवरी से गुरूग्राम शहर हो जायेगा डीजल ऑटो मुक्त 

—PTCNews—