पंजाब, हरियाणा और हिमाचल में स्वाइन फ्लू का कहर, ये है लक्षण और ऐसे करें बचाव

Hospital
पंजाब, हरियाणा और हिमाचल में स्वाइन फ्लू का कहर, ये है लक्षण और ऐसे करें बचाव

चंडीगढ़। पंजाब, हरियाणा और हिमाचल सहित साथ लगते राज्यों में स्वाइन फ्लू बढ़ी तेजी से अपने पांव पसार रहा है। हरियाणा और पंजाब में तो स्वाइन फ्लू से कई लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं अब हिमाचल में भी स्वाइन फ्लू से पीड़ित लोगों का आंकड़ा बढ़ने लगा है। विशेषज्ञों की माने तो ठंड के दिनों में स्वाइन फ्लू का वायरस तेजी से फैलता है, जिसके चलते सतर्कता बरतने की जरूरत है।

जानकारी के मुताबिक पंजाब में जनवरी महीने में अभी तक संदिग्ध रूप से स्वाइन फ्लू से सात लोगों की मौत हो चुकी है। अब तक 140 लोगों का H1N1 वायरस होने के संदेह में परीक्षण किया गया था और इनमें से 60 लोगों में स्वाइन फ्लू की पुष्टि हुई थी। स्वाइन फ्लू से पीड़ित लोगों के उपचार के लिए सरकार ने स्वास्थ्य महकमे को निर्देश जारी किए हैं।

हरियाणा में तेजी से बढ़ रहा स्वाइन फ्लू का कहर

उधर हरियाणा में स्वाइन फ्लू का कहर काफी तेजी से बढ़ रहा है। जानकारी के मुताबिक प्रदेश में पिछले दो माह में करीब 24 लोगों की स्वाइन फ्लू की चपेट में आने मौत हो चुकी है। वहीं स्वाइन फ्लू के सैंकड़ों मामले संदिग्ध और पॉजिटिव पाए गए हैं।

यह भी पढ़ें : दोगुनी हुई महिलाओं के खिलाफ अपराधों की संख्या, घरेलू हिंसा के मामले ज्यादा

हिमाचल में अभी स्वाइन फ्लू का ज्यादा असर नहीं है। लेकिन विभाग ने एहतियातन अलर्ट घोषित कर दिया है। स्वास्थ्य विभाग ने सभी जिला सीएमओ को निर्देश जारी किए हैं। सीएमओ को अस्पतालों में आने वाले मरीजों के रिकॉर्ड पर नजर रखने के लिए कहा गया है और इसके बारे विभाग को अपडेट करने के निर्देश दिए हैं।

स्वाइन फ्लू के लगातार बढ़ रहे कहर के चलते राज्य सरकारें सतर्क हो गई हैं और अस्पताल में स्पेशल वार्ड बनाने के साथ-साथ लोगों को जागरूक करने का काम किया जा रहा है। सभी सरकारी अस्पतालों में समुचित दवाईयां, जांच उपकरण एवं अन्य सुविधाओं को अपडेट रखने के निर्देश दिए गए हैं।

स्वाइन फ्लू के लक्षण और बचाव

स्वाइन फ्लू के लक्षणों में मुख्यत नाक का लगातार बहना, छींक आना और लगातार खांसी रहना है। इसके साथ ही मांसपेशियों में दर्द या अकड़न रहना, ज्यादा थकान होना भी स्वाइन फ्लू के कारणों में से एक है। अगर कोई ऐसा लक्षण दिखाई दे तो तुरंत डॉक्टर से परामर्श करें। स्वाइन फ्लू की बीमारी से बचने के लिए सफाई का खासतौर पर ध्यान रखना चाहिए। खांसते समय टीशू से कवर कर लेना चाहिए। खाना खाने से पहले हाथों को साबुन से अच्छे से धो लें। स्वाइन फ्लू से ग्रसित मरीज के कॉंटेक्ट में ना आएं और हाथ मिलाने से भी बचें।