जिन लोगों की कमाई कम उन्हें पुणे का यह प्राइवेट अस्पताल मुफ्त में लगा रहा वैक्सीन

By Arvind Kumar - May 25, 2021 4:05 pm

मुंबई। देश में कोरोना के खिलाफ वैक्सीनेशन का अभियान जोरों पर चल रहा है। हालांकि वैक्सीन का खर्चा केंद्र और राज्य सरकारें वहन कर रही हैं। लेकिन कई प्राइवेट अस्पतालों में भी पैसे देकर वैक्सीन लगवाई जा रही है। लेकिन पुणे का दीनानाथ मंगेशकर प्राइवेट अस्पताल जिन लोगों की कमाई कम है उन्हें मुफ्त में वैक्सीन लगा रहा है। अस्पताल के डॉ. योगेश ने बताया, ''हमारे पास काफी सारी वैक्सीनेशन की डोज़ उपलब्ध हैं। हमारी तैयारी है कि दिन में कम से कम 1800-2000 लोगों को वैक्सीन लगाएं।''

इस बीच कोरोना के खिलाफ देश भर में चल रहे टीकाकरण अभियान में भारत दिन- प्रतिदिन नए रिकॉर्ड बना रहा है। भारत में अब तक कुल 19 करोड़, 84 लाख, 43 हजार, 550 से भी ज्यादा लोगों को कोरोना वायरस का टीका लगाया जा चुका है। टीकाकरण के 129वें दिन यानि कि 24 मई को देशभर में 23 लाख से अधिक लोगों को यह टीका लगाया गया है। इस दौरान कुल 21 लाख, 90 हजार, 849 से ज्यादा लोगों को पहली डोज, जबकि 1 लाख, 74 हजार, 546 से ज्यादा लोगों को दूसरी डोज लगाई गई है।

देशभर में 24 मई तक लगाई गई कुल वैक्सीन में से 37.7% वैक्सीन 60 वर्ष से ऊपर के आयुवर्ग के लोगों को, 44.2% वैक्सीन 45 से 60 की आयुवर्ग के लोगों को और 18.1% वैक्सीन 18 से 44 की आयुवर्ग के लोगों को लगाई गई है। इस दौरान देश में 15.51 करोड़ लोगों को वैक्सीन की पहली डोज, जबकि 4.32 करोड़ लोगों को वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई गई है।

यह भी पढ़ें: हरियाणाः ब्लैक फंगस के इंजेक्शन की कालाबाजारी में दो रंगे हाथों गिरफ्तार

देश में बीते 24 घंटे में 18 से 44 वर्ष की आयुवर्ग के कुल 12 लाख, 52 हजार, 320 नागरिकों को वैक्सीन लगाई गई है। इसके अलावा अगर कुल आंकड़ों की बात करें, तो देश में इसी आयुवर्ग के कुल 1 करोड़, 18 लाख, 81 हजार से अधिक नागरिकों को 1 मई से शुरू हुए टीकाकरण के तीसरे चरण के अंतर्गत अबतक टीका लगाया जा चुका है।

बीते 24 घंटों में हेल्थ केयर वर्कर्स की श्रेणी में 17 हजार, 376 नागरिकों को पहला टीका, जबकि 11 हजार से अधिक नागरिकों को दूसरा टीका लगाया गया है। इसके अलावा 45 से 60 वर्ष की आयुवर्ग के 5 लाख, 91 हजार, 695 लोगों को पहला टीका, जबकि 93 हजार, 255 नागरिकों को दूसरा टीका लगाया गया। वरिष्ठजनों की श्रेणी में 2 लाख, 49 हजार, 536 लोगों को पहला टीका, जबकि 48 हजार, 309 लोगों को दूसरा टीका लगाया गया।

adv-img
adv-img