अपराध/हादसा

लखबीर हत्या मामले में आरोपियों का बढ़ा रिमांड,गुरु ग्रंथ सहिब की बेअदबी के चलते की थी हत्या

By Poonam Mehta -- October 23, 2021 3:10 pm -- Updated:Feb 15, 2021

सोनीपत: लखबीर की 15 अक्तूबर को हत्या कर दी गई थी। हत्या की जिम्मेदारी निहंगों ने ली थी। मामले में चार निहंगों सरबजीत, नारायण सिंह, भगवंत सिंह व गोविंद प्रीत ने सरेंडर किया दिया था। उन्हें 16 अक्तूबर को 7 दिन के रिमांड पर लिया गया था। मामले में पुलिस ने दो तलवार व चारों के कपड़े बरामद किए थे। अब वारदात में प्रयुक्त रस्सी को भी बरामद कर लिया गया है।

बता दें की आज चारों निहंग सरदारों को सोनीपत पुलिस कोर्ट में लेकर पहुंची। ड्यूटी मजिस्ट्रेट फर्स्ट क्लास प्रिया दत्ता की कोर्ट में चारों की पेशी हुई। चारों को कोर्ट ने 2 दिन के अतिरिक्त रिमांड पर भेजा है। यह अतिरिक्त रिमांड अन्य आरोपियों की पहचान के लिए लिया। कोर्ट ने एक पारिवारिक सदस्य को 20 मिनट के लिए मिलने का समय निर्धारित किया है। चारों का प्रतिदिन मेडिकल चेकअप होगा।

हत्या के आरोपी निहंग नारायण सिंह ने भरी अदालत में हत्या करना स्वीकार किया और कहा, मैंने लखबीर सिंह की टांग काटी थी। सरबजीत ने हाथ काटे और भगवंत व गोविंद प्रीत ने उसे लटकाने में सहायता की। चारों लोगों ने मिलकर युवक का कत्ल किया है,  हत्या में कोई और शामिल नहीं है।

निहंग का कहना है कि, मुस्लिम कुरान की रक्षा करता है और ईसाई बाइबल की, तो ऐसे में उन्हें अपने गुरुग्रंथ की रक्षा का पूरा अधिकार है। उन्होंने जो भी किया, सही किया। यदि फिर से गुरुग्रंथ की बेअदबी की जाती है तो हम बिल्कुल पीछे नहीं हटेंगे।