adv-img
अपराध/हादसा

उत्तराखंड: वेश्यावृति से इनकार करने पर हुई थी अंकिता की हत्या, बीजेपी नेता का बेटा गिरफ्तार

By Vinod Kumar -- September 24th 2022 01:31 PM -- Updated: September 25th 2022 11:54 AM

उत्तराखंड के अंकिता मर्डर केस में पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। एसडीआआरएफ (SDRF) ने अंकिता का शव ऋषिकेश के चिल्ला नहर से बरामद किया है। अंकिता के पिता और भाई ने शव की शिनाख्त की है। अंकिता हत्याकांड में पुलिस ने बीजेपी नेता के बेटे को गिरफ्तार किया है। इसी के साथ सीएम धामी (CM Dhami) ने भी मामले में कड़ा रूख अपनाते हुए सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। इसके साथ ही एसआईटी का गठन भी कर दिया गया है।



अंकिता मर्डर केस में पुलिस ने बीजेपी नेता के बेटे समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर किया है। इसके साथ ही मुख्य आरोपी और बीजेपी नेता के बेटे के अवैध रिजोर्ट पर बुलडोजर चलाया गया है।


बता दें कि 19 वर्षीय रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी ने कुछ दिन पहले ही उत्तराखंड में बीजेपी सरकार में पूर्व राज्यमंत्री विनोद आर्या के बेटे पुलिकित आर्य के रिजॉर्ट में अगस्त के महीने में बतौर रिसेप्शनिस्ट नौकरी शुरू की थी। 18 अगस्त को अंकिता लापता हो गई थी। 19 अगस्त को उसके माता पिता ने उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में लिखवाई थी।



रिजॉर्ट के कर्मचारियों से पूछताछ में पता चला कि 18 सितंबर को शाम करीब आठ बजे अंकिता रिजॉर्ट के मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर अंकित और भाष्कर के साथ रिजॉर्ट से गई थी। इसके बाद करीब साढ़े दस बजे ये तीनों ही रिजॉर्ट में लौटे। अंकिता उनके साथ नहीं थी। इस आधार पर पुलिस ने तीनों को हिरासत में लेकर पूछताछ शुरू की तो साजिश की परतें खुलने लगीं।



आरोप है कि पुलकित आर्य के रिजोर्ट में जिस्मफरोशी का धंधा चल रहा था। अंकिता इस धंधे का पर्दाफाश करने की धमकी पुलकित को दे रही थी। जांच में पता चला है कि पुलकित अंकिता को ग्राहकों और पुलकित के छोटे भाई से संबंध बनाने के लिए मजबूर कर रहा था। इस बात को लेकर दोनों में झगड़ा हुआ था। 18 सितंबर को पुलकित अंकिता को अपने दो मैनेजर के साथ ऋषिकेश ले गया था।



चारों लोग चीला बैराज के पास गए। चीला बैराज के पास पुलिकित और उसके दोस्तों ने मोमो के साथ शराब पी। इसके बाद आगे चले और चीला नहर किनारे रुक गए। यहां अंकिता और पुलिकत का झगड़ा हो गया। अंकिता ने पुलकित का फोन छीनकर नहर में फेंक दिया। इसके बाद पुलकित ने अंकिता को नहर में धक्का दे दिया। अंकिता ने नहर से बाहर निकलने की कोशिश की थी, लेकिन वो इसमे कामयाब नहीं हो पाई।

Koo Appआज सचिवालय में पुलिस महानिदेशक को ऋषिकेश घटना को लेकर सख़्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। जिस किसी ने ये जघन्य अपराध किया है उसे हर हाल में कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी। पुलिस अपना कार्य कर रही है। पीड़िता को न्याय दिलाना सुनिश्चित किया जाएगा। View attached media content
- Pushkar Singh Dhami (@pushkarsinghdhami) 23 Sep 2022
Koo Appआज प्रातः काल बेटी अंकिता का पार्थिव शव बरामद कर लिया गया। इस हृदय विदारक घटना से मन अत्यंत व्यथित है। दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाने हेतु पुलिस उपमहानिरीक्षक पी. रेणुका देवी जी के नेतृत्व में SIT का गठन कर इस गंभीर मामले की गहराई से जांच के भी आदेश दे दिए हैं। आरोपियों के गैर कानूनी रूप से बने रिजॉर्ट पर बुल्डोजर द्वारा करवाई भी कल देर रात की गई है। हमारा संकल्प है की इस जघन्य अपराध के लिए किसी भी दोषी को बख्शा नहीं जाएगा। - Pushkar Singh Dhami (@pushkarsinghdhami) 24 Sep 2022


  • Share