अपराध/हादसा

भ्रष्टाचार पर प्रहारः हरियाणा में विजिलेंस ब्यूरो ने जुलाई माह में 22 रिश्वतखोर किए गिरफ्तार

By Vinod Kumar -- September 04, 2022 3:56 pm -- Updated:September 04, 2022 3:59 pm

चंडीगढ़: हरियाणा राज्य विजिलेंस ब्यूरो ने इस वर्ष जुलाई माह के दौरान 14 सरकारी अधिकारियों व कर्मचारियों और 8 अन्य व्यक्तियों को रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफतार किया है।

विजिलेंस ब्यूरो के प्रवक्ता ने आज यहां जानकारी साझा करते हुए बताया कि उक्त अधिकारियों, कर्मचारियों व बिचैलियों को अलग-अलग मामलों में 4,000 रुपये से लेकर 65,000 रुपये तक की रिश्वत लेते हुए काबू किया गया है।

इसके अतिरिक्त, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत शिकायतों/जांच के आधार पर 15 क्लास-1 अधिकारियों, 10 क्लास-2 अधिकारियों, 23 क्लास-थ्री कर्मचारियों सहित 48 सरकारी और 12 निजी व्यक्तियों के खिलाफ मामले दर्ज किए गए हैं।

इसी अवधि के दौरान की गई एक जांच में ब्यूरो ने एक अराजपत्रित अधिकारी के खिलाफ विभागीय कार्रवाई के साथ एक आपराधिक मामला दर्ज करने की सिफारिश की। इसी तरह, दो जांच में एक राजपत्रित अधिकारी और तीन अराजपत्रित अधिकारियों के खिलाफ विभागीय कार्रवाई की सिफारिश की है। साथ ही एक जांच में एक अराजपत्रित अधिकारी के विरुद्ध आपराधिक मामला दर्ज करने की अनुशंसा की गई।

जुलाई माह में गिरफ्तार किये गये लोगों में म्युनिसिपल कमेटी नरवाना जींद के कार्यकारी अधिकारी को 40 हजार रुपये की रिश्वत लेते रंगेहाथ जबकि एचएसवीपी पानीपत के कनिष्ठ अभियंता को 50 हजार रुपये लेते पकड़ा गया।

Haryana: Vigilance team arrests patwari, munshi in bribery case

इसी प्रकार, उपायुक्त कार्यालय सोनीपत के अधीक्षक को 20,000 रुपये और यूएचबीवीएन मुरथल सोनीपत के लाइनमैन/क्लर्क को 50,000 रुपये की रिश्वत लेते, पुलिस स्टेशन फरुखनगर के एएसआई और एक निजी व्यक्ति को 20,000 रुपये लेते गिरफ्तार किया गया, प्रभारी हरियाणा खादी ग्राम उद्योग बोर्ड पानीपत और एक कंप्यूटर ऑपरेटर को 20,000 रुपये, गुरुग्राम में पुलिस चैकी ग्वाल पहाड़ी के हेड कांस्टेबल को 10,000 रुपये, प्रभारी पुलिस चैकी सेक्टर-16 फरीदाबाद और एक निजी व्यक्ति को 10,000 रुपये लेते हुए गिरफ्तार किया गया। इसके अलावा भिवानी में तैनात प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के एक अधिकारी और एक निजी व्यक्ति को 10 हजार रुपये की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया गया है।


नूंह जिले में तैनात एक पटवारी व निजी व्यक्ति को 9 हजार रुपये लेते गिरफ्तार किया गया, जींद जिले में पटवारी 8 हजार रुपये लेते, नगर थाना महेन्द्रगढ़ में तैनात ईएसआई 7 हजार रुपये लेते और थाना जाटूसाना में तैनात उपनिरीक्षक को 4000 लेते काबू किया। इसी प्रकार पलवल जिले में 10 हजार रुपये रिश्वत लेते निजी व्यक्ति, अंबाला जिले में 4500 रुपये, भिवानी जिले में 65,000 रुपये की रिश्वत लेते और फरीदाबाद जिले में 14,000 रुपये की रिश्वत लेते बिचैलिए को काबू किया गया।

  • Share