हरियाणा

अध्यापकों की ट्रांसफर ड्राइव का गांवों में भी विरोध, ग्रामीणों का आरोप बच्चों की पढ़ाई होगी बाधित

By Vinod Kumar -- August 25, 2022 5:06 pm -- Updated:August 25, 2022 5:08 pm

भिवानी/किशन सिंह: हरियाणा प्रदेश के सरकारी स्कूलों में पढ़ा रहे अध्यापकों के लिए चल रही ट्रांसफर ड्राईव का भिवानी में लोगों ने विरोध किया है। भिवानी जिला के गांव नाथुवास के ग्रामीणों ने स्कूलों के बाहर प्रदर्शन किया और स्कूल में पर्याप्त अध्यापकों की संख्या सुनिश्चित किए जाने की मांग प्रदेश सरकार व शिक्षा मंत्री से की।

ग्रामीणों ने बताया कि आठ वर्ष पहले उनके गांव के स्कूल को गांव के प्रयास से 12वीं तक का किया गया था, लेकिन अब ट्रांसफर ड्राइव के कारण स्कूल में 12वीं की पढ़ाई बंद हो जाएगी जिससे स्कूल का दर्जा छोटा हो जाएगा। इसका ग्रामीण विरोध कर रहे हैं।

ग्रामीणों ने मांग करते हुए कहा कि गांव नाथुवास के स्कूल में पर्याप्त संख्या में अध्यापकों की संख्या की जाए और स्कूल के दर्जे को कम ना करते हुए यहां साईंस, आर्टस और कॉमर्स संकाय की कक्षाओं को फिर से बहाल किया जाए।

ग्रामीणों ने कहा कि आठ वर्ष पहले उनके गांव के स्कूल को गांव के प्रयास से 12वीं तक किया गया था, लेकिन अब जिस प्रकार से ट्रांसफर ड्राइव में अध्यापकों के तबादले होंगे, उससे यहां 12वीं तक की पढ़ाई समाप्त हो जाएगी तथा उनके गांव के स्कूल का दर्जा अपने आप ही छोटा हो जाएगा। यहां चार गांवों के स्कूली छात्र-छात्राएं पढऩे के लिए आते है। अब उन्हें अध्यापक ना होने के कारण अन्य गांवों में जाना पड़ेगा।

इसके अलावा कई परिवार ऐसे हैं जो अपने बच्चों को गांव से बाहर नहीं भेज सकते, उन्हे मजबूरन बच्चों की पढ़ाई छुड़वानी पड़ेगी। ऐसे में इन बच्चों की शिक्षा को सीधा नुकसान सरकार पहुंचा रही हैं। इसीलिए आज गांव के लोग यहां स्कूल के बाहर एकत्रित होकर इस बात का विरोध करने के लिए पहुंचे हुए हैं।

  • Share