राजनीति

खिलाड़ियों को तराशने के लिए क्या-क्या कर रही केंद्र सरकार, खेल मंत्री ने संसद में बताया

By Arvind Kumar -- August 10, 2021 10:36 am -- Updated:August 10, 2021 10:36 am

नई दिल्ली। ओलंपिक और पैरालंपिक खेलों में भारत के प्रदर्शन को बेहतर बनाने के लिए सरकार द्वारा किए गए प्रयासों को लेकर पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने बताया कि खेल मंत्रालय ने सितंबर 2014 में टारगेट ओलंपिक पोडियम स्कीम शुरू की थी। इस स्कीम के तहत कोर ग्रुप में चुने गए एथलीटों को हर महीने 50 हजार रुपये और डेवलपमेंट ग्रुप को 25 हजार रुपये का भत्ता दिया जाता है।

इस स्कीम के तहत खिलाड़ियों को टॉप कोच से कोचिंग, खेल से जुड़े इक्विपमेंट खरीदने में मदद की जाती है। वहीं आर्थिक मदद के अलावा खिलाड़ियों को सपोर्ट स्टाफ भी दिए जाते हैं।

यह भी पढ़ें- पेपर लीक मामले को लेकर कांग्रेस का प्रदर्शन

यह भी पढ़ें- शहीदों के सम्मान में निकाली भव्य तिरंगा यात्रा


वहीं अनुराग ठाकुर ने बताया कि सरकार ने मिशन ओलंपिक सेल का भी गठन किया है, जो स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया (SAI) के अंतर्गत काम करती है। इस सेल का काम TOPS के तहत चुने गए एथलीट की पहचान करना और उन्हें सपोर्ट करना है।

उल्लेखनीय है कि टोक्यो ओलंपिक में भारत ने अपना अब तक का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन किया है। इस बार भारत ने एक गोल्ड, दो सिल्वर और 4 ब्रॉन्ज समेत कुल 7 मेडल जीते हैं। 2012 के ओलंपिक में भारत ने 6 मेडल जीते थे।

  • Share