आएँ जानें क्यों है आज सारे डॉक्टर्स हड़ताल पर….

डॉक्टर्स की देशव्यापी हड़ताल का असर पूरे हरियणा में नज़र आया।  प्रदेश भर में करीब करीब सभी अस्पताल बंद रहे।  सरकारी हॉस्पिटल्स पर भी इस हड़ताल का असर नज़र आया।

देश भर में यह हड़ताल इंडियन मेडिकल कौंसिल की कॉल पर की जा रही है।  सुबह 6 बजे से शाम 6 बजे तक चलने वाली इस हड़ताल के कारण मरीज़ों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा।  इंडियन मेडिकल कौंसिल  संसद में पेश किए जाने वाले नेशनल मेडिकल कमिशन बिल का विरोध कर रही है। कौंसिल का मानना है कि इस बिल के पास हो जाने के बाद मेडिकल प्रैक्टिस में प्रवेश करने का चोर दरवाज़ा खुल जाएगा और डाक्टरी सेवाओं की गुणवत्ता प्रभावित होगी।

प्रस्तावित बिल में मेडिकल प्रोफेशनल्स को बिना नेशनल लाइसेंस एग्जामिनेशन पास किये भी सर्जरी करने और प्रैक्टिस करने देने का प्रावधान किया गया है।  आईएमए का कहना है कि यह प्रावधान पूरी तरह से गैरकानूनी है।  आईएमए के मुताबिक इस प्रावधान के बाद लाइसेंस देने के मामलों में भ्रष्टाचार और बढ़ेगा।

नेशनल मेडिकल कौंसिल बिल के प्रावधानों के मुताबिक आयुष और आयुर्वेदिक डॉक्टर 6 महीने के ब्रिजिंग कोर्स के बाद एलोपैथिक मेडिसिंस को भी लिख  सकेंगे।  देशभर के डॉक्टर्स इस प्रावधान का कड़ा विरोध कर रहे हैं।

हरियणा के सभी नगरों में इस हड़ताल का असर नज़र आया।  ज़्यादातर निजि अस्पताल बंद रहे।  डॉक्टर्स ने सभी जिलों में लघु सचिवालयों के बाहर प्रदर्शन किआ और अपनी मांगों का ज्ञापन डिप्टी कमिश्नर्स को सौंपा।