Advertisment

कतर ने भारतीय नौसेना के 8 कर्मियों को किया रिहा, 7 लौटे घर

कतर ने 8 पूर्व भारतीय नौसेना कर्मियों को रिहा कर दिया है, जिन्हें जासूसी के आरोप में खाड़ी देश में हिरासत में लिया गया था।

author-image
Deepak Kumar
New Update
dd

कतर ने भारतीय नौसेना के 8 कर्मियों को किया रिहा, 7 लौटे घर

Listen to this article
0.75x 1x 1.5x
00:00 / 00:00
Advertisment

ब्यूरोः कतर ने 8 पूर्व भारतीय नौसेना कर्मियों को रिहा कर दिया है, जिन्हें जासूसी के आरोप में खाड़ी देश में हिरासत में लिया गया था। इस घटनाक्रम का भारत ने गर्मजोशी से स्वागत किया है, विदेश मंत्रालय (एमईए) ने कतर के फैसले के लिए आभार व्यक्त किया है।

Advertisment

विदेश मंत्रालय की ओर से सोमवार सुबह जारी एक बयान के अनुसार, 8 पूर्व भारतीय नौसेना कर्मियों में से 7 को, जो एक निजी कंपनी अल दहरा ग्लोबल कंपनी के लिए काम कर रहे थे, कतर से भारत लौट आए हैं। "भारत सरकार दाहरा ग्लोबल कंपनी के लिए काम करने वाले आठ भारतीय नागरिकों की रिहाई का स्वागत करती है, जिन्हें कतर में हिरासत में लिया गया था। 

Advertisment

रिहा हुए नौसेना अधिकारियों के नाम

Advertisment

पिछले साल दिसंबर में, कतर की एक अदालत ने अल दहरा ग्लोबल मामले में गिरफ्तार किए गए आठ भारतीय नौसेना के दिग्गजों को शुरू में दी गई मौत की सजा को पलट दिया और इसके बजाय जेल की सजा का विकल्प चुना।  कतर में हिरासत में लिए गए आठ भारतीय नौसेना अधिकारियों के नाम कैप्टन नवतेज सिंह गिल, कैप्टन बीरेंद्र कुमार वर्मा, कैप्टन सौरभ वशिष्ठ, कमांडर अमित नागपाल, कमांडर पूर्णेंदु तिवारी, कमांडर सुगुनाकर पकाला, कमांडर संजीव गुप्ता और नाविक रागेश थे।

पीएम मोदी का जताया आभार

दिल्ली लौटने पर, भारतीय नौसेना के दिग्गजों ने इस मामले में हस्तक्षेप के लिए प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया। नौसेना के एक दिग्गज ने कहा कि पीएम मोदी के हस्तक्षेप के बिना हमारे लिए यहां खड़ा होना संभव नहीं था।  

qatar indian-navy Ex Indian Navy personnel
Advertisment

Stay updated with the latest news headlines.

Follow us:
Advertisment