हरियाणा

सोनीपत में चार फैक्ट्रियों में लगी भीषण आग, मजदूरों ने तीसरी-चौथी मंजिल से कूद कर बचाई जान

By Vinod Kumar -- December 31, 2021 12:31 pm -- Updated:December 31, 2021 12:32 pm

सोनीपत/ जयदीप राठी: राई औद्योगिक क्षेत्र में चार फैक्ट्रियां आग की चपेट में आ गई। एक फैक्ट्री में शॉर्ट सर्किट से लगी आग ने साथ लगती तीन अन्य फैक्ट्रियों को भी अपनी चपेट में ले लिया। आग पर नियंत्रण पाने के लिए तीन जिलों की 21 गाड़ियों को लगाया गया। करीब 200 गाड़ी पानी डालने के बाद आग पर काबू पाया जा सका।

आग लगने के बाद कई मजदूर फैक्ट्रियों में फंस गए थे। मजदूरों ने तीसरी-चौथी मंजिल से कूदकर अपनी जान बचाई। इस दौरान दो मजदूर घायल भी हो गए। पुलिस और अग्निशमन विभाग की टीम संबंधित फैक्ट्रियों में आग लगने के कारणों की जांच कर रही है।

राई औद्योगिक क्षेत्र में स्थित ई रिक्शा बनाने वाली फैक्ट्री 1240 में रात में करीब एक बजे इसमें अचानक आग लग गई। तेज हवाओं के कारण आग एकदम फैल गई। इसके बाद आग ने साथ लगती गत्ता फैक्ट्री 1239 को चपेट में ले लिया। गत्ता होने के कारण आग ने और तेजी पकड़ ली। कुछ ही देर में आग आसपास की फैक्ट्रियों 1230, 1226 और 1227 में फैल गई। आग लगने से मजदूरों में भगदड़ मच गई।

Fire four factories in Rai Industrial Area of Sonipat, राई औद्योगिक क्षेत्र, सोनीपत, फैक्ट्री में आग, हरियाणा न्यूज फैक्ट्री में लगी भीषण आग

मजूदरों को फैक्ट्रियों की दूसरी और तीसरी मंजिल से कूदकर जान बचानी पड़ी। कूदने से चोट लगने के कारण दीपक और नंदू नाम के दो कामगार घायल हो गए। उनको निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। आसपास की फैक्ट्रियों के मालिक भी रात में ही मौके पर पहुंच गए।

Fire four factories in Rai Industrial Area of Sonipat, राई औद्योगिक क्षेत्र, सोनीपत, फैक्ट्री में आग, हरियाणा न्यूज फैक्ट्री में लगी आग

आग लगने की सूचना पर फायर ब्रिगेड की गाड़ियों का मौके पर आना शुरू हुई। जिले के सभी फायर स्टेशनों से गाड़ियां मंगवाई गईं। उसके बाद में पानीपत और रोहतक से भी फायर ब्रिगेड की गाड़ियों को बुलाया गया। करीब 21 गाड़ियों ने रातभर में 200 गाड़ी पानी फेंका। उसके बाद सुबह आठ बजे आग पर काबू पाया।

Fire four factories in Rai Industrial Area of Sonipat, राई औद्योगिक क्षेत्र, सोनीपत, फैक्ट्री में आग, हरियाणा न्यूज फैक्ट्री में लगी आग को बुझाता दमकल कर्मी

अधिकतर फैक्ट्रियों का 100 प्रतिशत एरिया टीन शेड से कवर किया हुआ था। इसके कारण आग पर नियंत्रण पाने में कड़ी मशक्कत का सामना करना पड़ा। आग से करीब 25 करोड़ रुपये के नुकसान का अनुमान है। आग लगने का कारण शार्ट सर्किट को माना जा रहा है। अधिकारियों की टीम मौके पर जांच कर रही है।

  • Share