राजनीति

चंडीगढ़ को यूटी रखने का प्रस्ताव MC हाउस में पारित, आप-कांग्रेस ने किया वॉकआउट

By Vinod Kumar -- April 07, 2022 3:18 pm -- Updated:April 07, 2022 3:20 pm

चंडीगढ़ नगर निगम हाउस में आज बीजेपी के पार्षदों ने सर्वसम्मति से चंडीगढ़ का यूटी का दर्जा बरकरार रखने का प्रस्ताव पारित किया। चंडीगढ़ में विधानसभा लाई जाए ताकि चंडीगढ़ की नीतियों पर शहरवासी भागीदार हो सकें। भाजपा पार्षद महेश इंद्र ने कहा कि केंद्र के हस्तक्षेप से पंजाब और हरियाणा को अपनी स्वतंत्र राजधानी बनाने को कहा जाए।

आम आदमी, अकाली और कांग्रेस इस मुद्दे पर वॉकआउट कर गई। इसके बाद सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पारित कर दिया गया। वहीं, चंडीगढ़ के कर्मियों पर केंद्र के सर्विस रुल्स लागू करने पर केंद्रीय गृह मंत्री का धन्यवाद प्रस्ताव भी पारित कर दिया गया।

BJP councillors, AAP councillors, Chandigarh Municipal Corporation, chandigarh

इससे पहले हाउस में नगर निगम में बीजेपी की ओर चंडीगढ़ को यूटी बनाए रखने का प्रस्ताव लाया गया, लेकिन आम आदमी पार्टी ने इस पर ज़ोरदार हंगामा शुरू कर दिया। बीजेपी और आम आदमी पार्टी के पार्षदों के बीच हाथापाई की नौबत तक आ गई। आम आदमी पार्टी के पार्षद दमनप्रीत और बीजेपी पार्षद जस मनप्रीत के बीच तीखी नोकझोंक हुई और बात हाथापाई तक पहुंची तो बीजेपी के कुछ पार्षदों ने मामले को शांत करवाने की कोशिश की।

BJP councillors, AAP councillors, Chandigarh Municipal Corporation, chandigarh

भाजपा पार्षद हरप्रीत कौर बबला की और से पंजाब के सीएम भगवंत मान का नाम लेकर कहा कि वो चंडीगढ़ को छीनना चाहते है। इस पर आप की पार्षद प्रेम लता ने ऐतराज़ जताया। इसके बाद सदन में जोरदार हंगामा शुरू हो गया। सभी भाजपा पार्षदों ने हाथों में पोस्टर पकड़े हुए नजर आए। पोस्टर में लिखा था कि चंडीगढ़ न पंजाब का न भगवंत मान का है...चंडीगढ़ सिर्फ चंडीगढ़ वालो का है। चंडीगढ़ केजरीवाल का नही ये यूटी है और यूटी ही रहेगा।

नगर निगम में भाजपा के प्रस्ताव पर भारी हंगामे के बीच आप और कांग्रेस ने वॉक आउट कर दिया है। इससे पहले आम आदमी पार्टी और कांग्रेस ने चंडीगढ़ में पानी के मुद्दे पर बहस छेड़ दी थी। उनका कहना था कि पहले शहर में पानी के मुद्दे पर बात होनी चाहिए। उसके बाद चंडीगढ़ का मुद्दा रखा जाना चाहिए।

BJP councillors, AAP councillors, Chandigarh Municipal Corporation, chandigarh

नहीं चाहिए गैंगस्टर कल्चर: बबला
इससे पहले भाजपा पार्षद हरप्रीत कौर बबला ने कहा कि हम चंडीगढ़ में पंजाब की तरह गैंगस्टर कल्चर और ड्रग माफिया नहीं लाना चाहते। यह हमारे बच्चों का सवाल है। बबला ने कहा कि हम अपनी आखिरी सांस तक लड़ेगें। पंजाब और हरियाणा का हिस्सा नहीं बनने देगें।

कोई माई का लाल नहीं छीन सकता चंडीगढ़: राणा
भाजपा पार्षद कंवर पाल राणा ने चंडीगढ़ के नौजवानों का मुद्दा उठाया। उन्होंने कहा कि चंडीगढ़ के लोगों को यहां नौकरी नहीं मिल रही। अन्य राज्यों के बच्चे और नौजवान यहां आकर शिक्षा और नौकरियां हासिल कर रहे हैं। वहीं चंडीगढ़ के युवाओं को चंडीगढ़ समेत पंजाब और हरियाणा में शिक्षा और नौकरी का लाभ नही मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि कोई माई का लाल पैदा नहीं हुआ है जो चंडीगढ़ को छीन ले।

  • Share