धर्म

उत्तराखंड सरकार का बड़ा फैसला, चार धाम यात्रा पर जाने से पहले करवाना होगा पंजीकरण

By Vinod Kumar -- May 17, 2022 2:37 pm -- Updated:May 17, 2022 5:06 pm

चारधाम में लोगों की भीड़ को देखते हुए उत्तराखंड प्रशासन ने सख्ती कर दी है। भीड़ को संभालना मुश्किल हो रहा है। अव्यवस्था से बचने के लिए प्रशासन ने अब चारधाम के लिए पंजीकरण अनिवार्य कर दिया है। बिना पंजीकरण कराए यात्रा पर जाने वाले लोगों को ऋषिकेश में रोक दिया जाएगा।

न्यूज एजेंसी एएनआई के मुताबिक, उत्तराखंड सरकार ने कहा, 'चारधाम यात्रा शुरु करने से पहले यात्रियों को पर्यटन विभाग के पोर्टल पर पंजीकरण कराना होगा। पंजीकरण अनिवार्य है। बिना पंजीकरण के यात्रा करने वाले तीर्थयात्रियों को ऋषिकेश से आगे नहीं बढ़ने दिया जाएगा।'

बता दें कि चारधाम में व्यवस्था अस्त-व्यस्त हो गई है। कई श्रद्धालुओं की मौत अब तक हो चुकी है। आंकड़ों के मुताबिक 39 श्रद्धालुओं की मौत अब तक हो चुकी है। सरकार का मानना है कि ये मौतें स्वास्थ्य कारणों से हुई हैं। अव्यवस्था इन मौतों का कारण नहीं है।

मई के पहले सप्ताह में शुरू हुई थी यात्रा
चारधाम यात्रा मई के पहले सप्ताह में शुरू हुई थी। धीरे धीरे चारधाम यात्रा में तीर्थयात्रियों की संख्या बढ़ती जा रही है। केदारनाथ में ही 15 मई तक लगभग 2 लाख यात्री दर्शन के लिए पहुंच चुके हैं। चारधाम यात्रियों से खाने-पीने की मनमानी कीमत वसूलने की खबरें आ रही हैं, एक मैगी के 100 रुपये तक वसूले जा रहै है।

लोगों को रात बिताने के लिए जगह नहीं मिल रही है। इसके बाद भी लोग ठंड के बीच खुले आसमान के नीचे रातें बीता रहे हैं। रोजाना हजारों की संख्या में देश के अलग-अलग हिस्सों से लोग तीर्थ के लिए चारधाम यात्रा के लिए पहुंच रहे हैं।

 

Koo App

चारधाम यात्रा हेतु प्रदेश सरकार द्वारा विभिन्न बुनियादी सुविधाएं सुचारू रूप से श्रद्धालुओं को उपलब्ध कराई जा रही हैं। मैं सभी श्रद्धालुओं से विनम्र निवेदन करता हूं कि जब तक यात्रा हेतु संचालित पोर्टल पर पंजीकरण प्रक्रिया पूरी न हो तब तक यात्रा प्रारंभ ना करें। इसके साथ ही पूरा स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद ही यात्रा की तैयारी करें। हमारी सरकार श्रद्धालुओं के सुगम एवं सुरक्षित चार धाम यात्रा हेतु सदैव प्रतिबद्ध है। #ChardhamYatra

- Pushkar Singh Dhami (@pushkarsinghdhami) 16 May 2022

  • Share