adv-img
हरियाणा

राम रहीम की पैरोल के खिलाफ कोर्ट जाएंगे अंशुल छत्रपति, एचसी अरोड़ा ने भी कोर्ट में डाली याचिका

By Vinod Kumar -- October 31st 2022 11:58 AM -- Updated: October 31st 2022 02:21 PM
राम रहीम की पैरोल के खिलाफ कोर्ट जाएंगे अंशुल छत्रपति, गवाहों की जान को बताया खतरा

राम रहीम की पैरोल को लेकर जहां एक और सियासतदान अपना विरोध जाहिर कर रहे हैं, वहीं, सरकार अपना बचाव करने में जुटी है। विपक्ष है कहना है कि आदमपुर उपचुनाव के लिए राम रहीम को पैरोल मिली है। वहीं, सरकार का कहना है कि राम रहीम को पैरोल नियमों के तहत मिली है। 

सिरसा के पूर्व पत्रकार रामचंद्र छत्रपति के बेटे अंशुल छत्रपति ने भी राम रहीम को पैरोल देने पर आपत्ति जाहिर की है। अंशुल छत्रपति ने तो कड़े शब्दों में हरियाणा सरकार को खरी खोटी सुनाई है। अंशुल छत्रपति ने कहा कि राम रहीम के जेल से बाहर आने पर गवाहों को जान से खतरा है। वो जल्द ही इस मामले में कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे। वहीं, पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट में वकील एचसी अरोड़ा ने राम रहीम की पैरोल को लेकर याचिका दायर की है।

अंशुल छत्रपति ने कहा कि दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने राम रहीम की पैरोल को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर पैरोल के नियमों को सख्त करने के की गुजारिश की है। स्वाति मालीवाल ने बयान जारी किया है कि इस कार्रवाई के बाद उन्हें सोशल मीडिया पर धमकियां मिल रही है। डेरा प्रमुख राम रहीम और डेरा अनुयायियों का चरित्र ही लोगों को धमकियां देने वाला रहा है। उन्होंने कहा कि राम रहीम को पैरोल देकर हरियाणा सरकार राम रहीम की मदद कर रही है। 

राम रहीम पर फिलहाल अभी 400 डेरा समर्थकों को नपुसंक बनाने का केस भी चल रहा है। बता दें कि राम रहीम को दिवाली से पहले 15 अक्टूबर को 40 दिनों की पैरोल दी गई है। राम रहीम पैरोल मिलने के बाद यूपी के बागपत आश्रम में रह रहा है। बताया जा रहा है हनीप्रीत भी उसके साथ ही है। राम रहीम इन दिनों ऑनलाइन सत्संग कर रहा है, ऑनलाइन सत्संग के जरिये राम रहीम से सियासत दान भी जुड़ रहे है। कई राजनेता राम रहीम के सत्सग में नजर आ चुके हैं।

राम रहीम ने अब दिवाली के दिन ही एक नया गाना लॉन्च किया है। राम रहीम की पैरोल को लेकर पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट के एडवोकेट एचसी अरोड़ा ने हरियाणा के चीफ सेक्रेटरी को लीगल नोटिस भेजा है। उन्होंने राम रहीम की पैरोल तत्काल रद्द करने की मांग की है। इसके अलावा राम रहीम के दिवाली पर रिलीज गाने 'नित दी दिवाली' पर भी रोक लगाने की मांग की है। एडवोकेट ने कहा कि पैरोल पर बाहर आए डेरा प्रमुख को लोकप्रियता हासिल करने की अनुमति नहीं दी जा सकती है।

बता दें कि राम रहीम साध्वी यौन शोषण, पूर्व पत्रकार रामचंद्र छत्रपति और डेरा सच्चा सौदा के पूर्व प्रबंधक रणजीत सिंह हत्या मामले में पिछले 5 सालों से रोहतक की सुनारियां जेल में उम्रकैद की सजा काट रहा है।


adv-img
  • Share