करनाल के ग्रामीण क्षेत्र में डेंगू ने पसारे पैर, 16 केस आये सामने

Karnal 2
करनाल के ग्रामीण क्षेत्र में डेंगू ने पसारे पैर, 16 केस आये सामने

करनाल।( डिम्पल चौधरी ) जिले का ग्रामीण क्षेत्र में डेंगू अपने पांव पसार रहा है यही कारण है कि एक के बाद एक डेंगू के 16 मामले अब तक सामने आ चुके हैं, इनमें से करीब 10 ग्रामीण क्षेत्र से आये हैं। शहर के अस्पतालों की बात करें तो संदिग्ध लोग भी डेंगू की जांच और इलाज करा रहे हैं जिसमे अधिकतर लोगों को अस्पताल में दाखिल कर लिया गया है, हालाँकि स्वास्थ्य विभाग का कहना है कि ठंड होने पर मच्छरों की संख्या होगी कम हो जाएगी लेकिन लोगों के बीच डेंगू का खौफ बरक़रार है अभी तक विभाग के अनुसार 50 डेंगू के संदिग्ध मरीजों का एलाइजा टेस्ट कराया जा चुका है जिसमे 16 केस पॉजिटिव आये हैं व अन्य लोगों के सैंपल की रिपोर्ट आना बाकि है।

Karnal 1
करनाल के ग्रामीण क्षेत्र में डेंगू ने पसारे पैर, 16 केस आये सामने

डेगू लारवा के लिए स्वास्थ्य विभाग की पांच टीमें घर-घर जाकर डेंगू के लारवे की जांच कर रही हैं। जून से अभी तक टीमों ने 45578 से ज्यादा घरों में जाकर पानी की टंकी, कूलर, गमले आदि की चेकिंग की है। जिन घरों में डेंगू का लारवा मिला है तो उन्हें नोटिस भी दिए गए हैं। सीएमओ अश्वनी आहूजा ने बताया कि सभी प्राइवेट अस्पताल और लैब में डेंगू एलाइजा टेस्ट का रेट सरकार द्वारा 600 रुपये निर्धारित किया गया है। सभी प्राइवेट अस्पताल और प्राइवेट लैब संचालकों को डेंगू एलाइजा टेस्ट के निर्धारित रेट की लिस्ट सार्वजनिक चस्पा करने के पहले ही निर्देश दिए गये हैं। ग्रामीण क्षेत्र में मच्छरों की भरमार है यही कारण है कि डेंगू के केस ग्रामीण क्षेत्र में अधिक हैं, क्योंकि जिले के कुछ गांव को छोड़कर अन्य गांव में फॉगिंग ही नहीं हुई। इस कारण लोग मच्छरों से ज्यादा परेशान हैं। हालांकि, ठंडा मौसम होने के कारण अब राहत मिल सकेगी। गांवों में पानी की निकासी नहीं होने के कारण पानी जमा रहता है और इसी कारण मच्छर पनपते हैं।

यह भी पड़ेंभाजपा के गठबंधन को लेकर कुमारी शैलजा ने कसा तंज 

—PTCNews—