हिसार में ‘इंटीग्रेटिड एविएशन हब’ के दूसरे चरण के विस्तार का श्रीगणेश

Hisar Airport
हिसार में ‘इंटीग्रेटिड एविएशन हब’ के दूसरे चरण के विस्तार का श्रीगणेश

चंडीगढ़। हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने आज सरकार का एक वर्ष पूरा होने के अवसर पर हिसार में ‘इंटीग्रेटिड एविएशन हब’ के दूसरे चरण के विस्तार हेतु भूमि पूजन किया। इसके तहत 160 करोड़ रुपए की लागत से हवाई पट्टी को 1200 मीटर से बढ़ाकर 3000 मीटर लम्बा करने का प्रस्ताव है। इस हवाई पट्टी की चौड़ाई 60 फुट होगी।
Hisar Airport

हिसार में ‘इंटीग्रेटिड एविएशन हब’ के दूसरे चरण के विस्तार का श्रीगणेशमुख्यमंत्री ने कहा कि हिसार को एविएशन हब बनाने के लिए हरियाणा सरकार का यह एक मेगा प्रोजैक्ट है, जिस पर एविएशन संबंधित अनेक गतिविधियों को बढ़ाया जाएगा। इनमें विमानन प्रशिक्षण, सिम्युलेटर प्रशिक्षण, मरम्मत सुविधा, रक्षा एयरोस्पेस विनिर्माण तथा एयर कारगो पोर्ट इत्यादि की सुविधाएं शामिल होंगी। इस अवसर पर वैदिक पद्घति के अनुसार यज्ञ का आयोजन किया गया। इसके बाद हिसार के एयरपोर्ट पर सांकेतिक मिट्टी हटाकर कार्य की शुरूआत की गई।

यह भी पढ़ें- 30 और 31 अक्टूबर को गठबंधन प्रत्याशी योगेश्वर के समर्थन में प्रचार करेंगे डिप्टी सीएम

Hisar Airport
हिसार में ‘इंटीग्रेटिड एविएशन हब’ के दूसरे चरण के विस्तार का श्रीगणेश

educareमुख्यमंत्री ने कहा कि इस परियोजना को चरणबद्ध तरीके से पूरा किया जाएगा। इसके पहले चरण में हिसार एयरपोर्ट प्रदेश का पहला डीजीसीए बना है जबकि दूसरे चरण में परियोजना का इस प्रकार से विस्तार किया जाएगा कि इसे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र का तीसरा सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनाया जा सके। इसके दूसरे चरण में रनवे का विस्तार 10 हजार फीट तक किया जाएगा, जिस पर बड़े विमान का संचालन किया जा सके।

यह भी पढ़ें- कॉलेज से पेपर देकर बाहर निकली छात्रा की गोली मारकर हत्या

Hisar Airport
हिसार में ‘इंटीग्रेटिड एविएशन हब’ के दूसरे चरण के विस्तार का श्रीगणेश

इस पर कैट-2 लाईट प्रणाली-सह-सहायक लैंडिंग प्रणाली/डीवीओआर तथा अन्तर्राष्ट्रीय स्तर की हवाई आधारभूत संरचना विकसित की जाएगी। इसके लिए पर्यावरण मंत्रालय द्वारा हाल ही में 7200 एकड़ के एयरपोर्ट विकास क्षेत्र के लिए पर्यावरण अनुमति एवं प्रबंधन कार्यक्रम की सिफारिश की गई है।

इस मौके पर उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, हरियाणा विधानसभा के डिप्टी स्पीकर रणबीर सिंह गंगवा सहित अनेक नेता मौजूद थे।