राजनीति

हम तो डूबेंगे 'सनम' पर तुम्हें भी ले डूबेंगे, सिद्धू के बाद चन्नी की दोनों सीटों पर हार

By Vinod Kumar -- March 10, 2022 5:02 pm -- Updated:March 10, 2022 5:23 pm

पंजाब के मुख्यमंत्री चरणजीत सिंह चन्नी को पंजाब की जनता ने विधानसभा चुनावों (Assembly Election Results2022) में नकार दिया है। चन्नी अपनी दोनों सीटों चमकौर साहिब और भदौर से चुनाव हार गए। उन्होंने एक ट्वीट कर अपनी हार स्वीकार की। उन्होंने कहा कि वो विनम्रता से पंजाब के लोगों का आदेश स्वीकार करते हैं।

उन्होंने आम आदमी पार्टी और पार्टी के मुख्यमंत्री पद के चेहरे भगवंत मान को बधाई दी। चन्नी ने कहा कि वो उम्मीद करते हैं कि 'आम आदमी पार्टी की उम्मीदों पर खरा उतरेगी।' नतीजों में कांग्रेस के हाथ से सत्ता भी चली गई। कांग्रेस को उम्मीद थी की चन्नी विधानसभा चुनावों में उनके लिए एक्स फैक्टर होंगे। दलित वोट को ध्यान में रखर जाखड़ की जगह उन्हें सीएम बनाया गया था, लेकिन चन्नी कोई कमाल नहीं कर सके।

चन्नी के साथ कांग्रेस की हार का जिम्मेदार सिद्धू को माना जा रहा है। राजनीतिक विश्लेषकों का मानना है कि पार्टी और सरकार में सिद्धू की वजह से तलवारें खींची थी। सिद्धू कई बार मंच से अपनी ही सरकार और सीएम को कटघरे में खड़ा कर चुके हैं। इससे लोगों के बीच गलत संदेश गया और नतीजा कांग्रेस को इतनी करारी हार मिली।

पंजाब कांग्रेस के प्रमुख बने नवजोत सिंह सिद्धू की चन्नी के साथ लगातार ठनती रही। इसलिए ये बात काफी दिलचस्प है कि चन्नी और सिद्धू दोनों अपनी सीट से हार चुके हैं। सिद्धू भी अमृतसर ईस्ट से हार गए हैं।

दिलचस्प है कि पंजाब में वर्तमान मुख्यमंत्री के साथ पहले के भी सभी मुख्यमंत्री भी अपनी सीट नहीं बचा पाए हैं। चन्नी के अलावा कैप्टन अमरिंदर सिंह पटियाला शहरी क्षेत्र, सुखबीर बादल जलालाबाद से हार गए हैं।

  • Share