अपराध/हादसा

ओमीक्रोन से परेशान डॉक्टर ने की पत्नी समेत दो बच्चों की हत्या, नोट में लिखा: अब और लाशें नहीं गिननी

By Vinod Kumar -- December 04, 2021 3:27 pm

नेशनल डेस्क: कानपुर में बीते शुक्रवार को सिरफिरे डॉक्टर ने पत्नी समेत अपने दोनों बच्चों की बेरहमी से हत्या कर दी। डॉक्टर ट्रिपल मर्डर को अंजाम देने के बाद मौके से फरार हो गया। इसइसके बाद डॉक्टर ने अपने भाई को मैसेज भेजकर पुलिस बुलाने को कहा। भाई के पहुंचने से पहले ही आरोपी डॉक्टर फरार हो गया था।

पुलिस को मौके से डायरी में लिखा एक नोट मिला जिसमें डॉक्टर ने हत्या की वजह कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोम को बताया है। इसमें लिखा है- अब लाशें नहीं गिननी है। मौके पर हुंचकर पुलिस ने तीनों शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

इंदिरा नगर में डिविनिटी आपर्टमेंट में डॉक्टर सुशील कुमार अपने परिवार के साथ रहते थे। उन्होंने अपने भाई को मैसेज भेजा कि मैंने डिप्रेशन में आकर पत्नी दोनों बच्चों की हत्या कर दी है। मौके पर पहुंचकर डॉक्टर के भाई ने देखा कि भाभी चंद्र प्रभा के साथ दोनों बच्चों की हत्या हो चुकी थी। पास में खून से सना हुआ हथौड़ा भी पड़ा हुआ था। इस घटना के बाद से पूरे इलाके में हड़कंप मचा हुआ है। मरने वाले लोगों में पत्नी चंद्रप्रभा (48), बेटा शिखर (18) और डॉक्टर की नाबालिग बेटी 10वीं की छात्रा थी।

डॉक्टर सुशील ने अपने नोट में लिखा कि वो एक लाइलाज बीमारी से ग्रस्त हो गया है। ऐसे में वो अपने परिवार को कष्ट में नहीं छोड़ सकता है। सभी को मुक्ति के मार्ग पर छोड़कर जा रहा हूं। सारे कष्ट एक ही पल में दूर कर रहा हूं। अपने पीछे किसी को कष्ट में नहीं देख सकता था। मेरी आत्मा कभी मुझे माफ नहीं करती। बताया जा रहा है कि सुशील ने कानपुर के रामा मेडिकल कॉलेज के फॉरेंसिक विभाग में एचओडी है। उन्होंने कानपुर मेडिकल कॉलेज से पढ़ाई की है।इस हत्याकांड में कई ऐसे अनसुलझे सवाल हैं, जो लोगों के गले नहीं उतर रहे हैं। डॉक्टर ने पत्नी और बच्चों की हत्या योजनाबद्ध तरीके से की है या फिर ओमीक्रोन डिप्रेशन का ढोंग कर रहा है। पुलिस को इन अनसुलझे सवालों की गुत्थी सुलझानी होगी।
सुशील ने पहले खुद को कोविड की वजह से डिप्रेशन होने की बात लिखी है। इसके बाद उसने लिखा है कि मैं आंखों की बीमारी से परेशान हूं। इस लिए इस तरह का कदम उठाना पड़ रहा है।

डॉक्टर ने खुद नहीं की आत्महत्या
डॉ सुशील ने डायरी में लिखा है कि मैं खुद को अपने परिवार को खत्म कर रहा हूं। सुशील ने पत्नी और बच्चों की हत्या कर दी। लेकिन उसने खुद को नुकसान नहीं पहुंचाया। पुलिस ने जब अर्पाटमेंट के सीसीटीवी कैमरों को खंगाला तो डॉ सुशील शुक्रवार दोपहर लगभग एक बजे बाहर जाते हुए दिख रहा है। इसके बाद सुशील लौट कर फ्लैट में नहीं आया। इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा रहा है कि सुशील ने दोपहर के वक्त ही तीनों की हत्या कर दी थी। इसके बाद शाम लगभग साढ़े पांच बजे अपने भाई को घटना की जानकारी दी थी।

योजनाबद्ध तरीके से हत्या?
डॉक्टर ने पत्नी और बच्चों की हत्या योजनाबद्ध तरीके से की है। डॉ सुशील कार से अपने ड्राइवर के साथ रामा मेडिकल कॉलेज जाता था। शुक्रवार को सुशील ने ड्राइवर को आने के लिए मना कर दिया था। इसके बाद सुशील कॉलेज भी नहीं गया था। उसकी हरकतों से स्पष्ट है कि शुक्रवार को ही उसने हत्या का प्लान तैयार कर लिया था। लेकिन डिप्रेशन का शिकार कोई शख्स इस तरह से हत्या की साजिश रच सकता है। लोगों के मन में ये भी सवाल उठ रहे हैं कि एक अकेला शख्स एक साथ तीन लोगों की हत्या कैसे कर सकता है।

  • Share