कानून व्यवस्था

घाटी से हिंदुओं का पलायन शुरू, रातों-रात कश्मीरी पंडितों ने छोड़ा घर

By Vinod Kumar -- June 03, 2022 3:09 pm

कश्मीर में हिंदुओं की टारगेट किलिंग जारी है। पिछले कल आतंकियों ने कश्मीर में बैंक मैनेजर विजय कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी। इसके बाद गुरुवार शाम को ही आतंकियों ने बडगाम में दो गैर कश्मीरियों को भी गोली मार दी। दोनों को अस्पताल ले जाया गया, जहां इलाज के दौरान खुशदील ने दम तोड़ दिया। वहीं पंजाब के गुरुदासपुर के रहने वाले गोरिया का इलाज अस्पताल में चल रहा है।

कश्मीर में 26 दिनों में 10 हत्याएं हुई हैं। टारगेट किलिंग से गैर कश्मीरी और हिंदू डरे हुए हैं। लोगों के जहन में 1990 की खौफनाक यादें ताजा हो गई हैं। दहशत के बीच कई लोगों ने कश्मीर छोड़ने का फैसला किया है। कश्मीरी पंडितों के साथ वहां रोजी रोटी कमाने वाले गैर कश्मीरी भी घर वापस लौट रहे हैं। गम, गुस्सा, बेबसी के बीच कश्मीरी पंडितों ने घाटी में सभी जगहों पर प्रदर्शन भी स्थगित कर दिया है।

कश्मीर में तैनात सरकारी कर्मचारी सरकार से तबादले या फिर उनकी सुरक्षा की मांग कर रहे हैं। दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के मुताबिक PM पैकेज से मिले अनंतनाग के मट्टन स्थित पंडित कॉलोनी में सन्नाटा पसरा है। दैनिक भास्कर को कश्मीरी पंडित रंजन ज्योतिषी ने बताया कि अनंतनाग स्थित मट्टन की कश्मीरी पंडित कॉलोनी से 90% लोग जा चुके हैं। लोगों के सब्र का बांध टूट चुका है, जिसके बाद रात में ही वे पलायन कर गए।

इसके साथ ही घाटी में लगातार हो रही टारगेट किलिंग के बाद केन्द्रीय गृह मंत्री हरकत में आया गया है। गृह मंत्रालय ने आज इस मसले पर हाई लेवल बैठक बुलाई है। बैटक में जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा के साथ ही दूसरे शीर्ष अधिकारी शामिल होंगे। इस बैठक में NSA अजीत डोभाल और जम्मू कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह भी शामिल होंगे।

बता दें कि 1990 में हुए नरसंहार के बाद कश्मीरी पंडितों को घर छोड़कर शरणार्थी शिविरों में शरण लेनी पड़ी थी। गृह मंत्रालय के मुताबिक 1990 में 219 कश्मीरी पंडितों का घाटी में नरसंहार हुआ था। इसके बाद एक अनुमान के मुताबिक 1 लाख 20 हजार कश्मीरी पंडितों ने घाटी से उस समय पलायन किया था। ये कश्मीरी पंडित आज तक अपने घर नहीं लौट पाए। इन्हें उम्मीद थी की एक दिन वो अपने घर लौटेंगे, लेकिन ताजा हालातों के बाद कश्मीरी पंडितों की वापसी मुश्किल हो गई है।

 

  • Share