हरियाणा

आज से किसानों की घर वापसी शुरू, गाजीपुर बॉर्डर से पहले जत्थे को टिकैत ने दिखाई हरी झंडी

By Vinod Kumar -- December 11, 2021 10:55 am -- Updated:December 11, 2021 12:36 pm

दिल्ली: एक साल के बाद आज किसानों की घर वापसी शुरू हो गई है। धरना स्थलों से किसान अपने-अपने घरों के लिए रवाना हो रहे हैं। इस दौरान किसानों के चेहरे पर खुशी साफ झलक रही है। आंदोलन खत्म करने के एलान के साथ किसानों ने घर वापसी के लिए 11 और 12 दिसंबर की तारीख तय की थी।

दिल्ली बॉर्डर से किसानों की रवानगी शुरू हो गई है। आज सुबह 8।30 बजे किसान नेता राकेश टिकैत ने किसानों के जत्थे को बिजनौर के लिए रवाना किया। गाजीपुर बॉर्डर पर किसान पिछले एक साथ से कृषि कानूनों की वापसी समेत अन्य मांगों को लेकर एक साल से डटे हुए थे।इस बीच किसानों ने आज पूरे देश में विजय दिवस मनाने का एलान किया है।

ghazipur border singhu border tikri border farmer protest गाजीपुर बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, किसान आंदोलन, किसानों की घर वापसी ट्रैक्टर टॉलियों में घर लौटते किसान

दिल्ली, हरियाणा, यूपी, पंजाब के किसान अपने घरों को लौट रहे हैं। नेशनल हाइवे 44 पर आंदोलन के दौरान बनाए गए ईंटों के मकानों को किसानों ने तोड़ दिया है। सड़क से तंबू, टेंट और पंडाल हटाए जा रहे हैं। आंदोलनकारी किसानों ने ट्रैक्टर ट्रॉलियों तक में घर बना रखा था। दिल्ली की सीमाओं से लौटने वाले किसानों का पंजाब सरकार स्वागत करेगी। इसका एलान सीएम चरणजीत सिंह चन्नी ने किया है। किसानों, मजदूरों और संयुक्त किसान मोर्चा को बधाई देते हुए चरणजीत सिंह चन्नी ने कहा ये केंद्र सरकार के खिलाफ किसानों की जीत है। राज्य सरकार अपनी माटी के बेटों का स्वागत करेगी।

ghazipur border singhu border tikri border farmer protest गाजीपुर बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, किसान आंदोलन, किसानों की घर वापसी घर वापसी करते किसान

सिंघु बॉर्डर से किसान अंबाला तक साथ जाएंगे और फिर अपने-अपने जिले के लिए रवाना होंगे। कुछ किसान फतेहपुर साहिब में आज रात रुकेंगे, जबकि टिकरी बॉर्डर पर आंदोलन कर रहे किसान पटियाल के रास्ते पंजाब पहुंचेंगे। कुल मिलाकर 12 दिसंबर तक सभी किसानों के अपने-अपने घर पहुंच जाने का कार्यक्रम है। वहीं 13 दिसंबर को किसान अमृतसर में श्री दरबार साहब में मत्था टेकेंगे।

ghazipur border singhu border tikri border farmer protest गाजीपुर बॉर्डर, सिंघु बॉर्डर, टिकरी बॉर्डर, किसान आंदोलन, किसानों की घर वापसी अपने घर लौटते किसान

15 दिसंबर के बाद सभी पंजाब-हरियाणा सब जगह टोल, मॉल और पेट्रोल पंप पर चल रहा प्रदर्शन खत्म हो जाएगा। 15 दिसंबर तक किसानों की टोली पंजाब-हरियाणा समेत दिल्ली की सड़कों को पूरी तरह खाली कर देगी। दिल्ली के गाजीपुर बॉर्डर पर से बैरिकेडिंग भी हट जाएगी और दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर गाड़ियां फिर दौड़ने लगेगी।

किसानों की वापसी को देखते हुए हरियाणा पुलिस ने व्यापक ट्रैफिक इंतजाम किया है। हरियाणा पुलिस के प्रवक्ता ने कहा कि रास्ते में पड़ने वाले सभी जिलों के एसपी को ट्रैफिक, सुरक्षा और कानून व्यवस्था को संभालने कहा गया है। अंबाला, बहादुरगढ़, हिसार और जींद में खास सुरक्षा बरती जा रही है।

  • Share